गडकरी मामले में केंद्र का घिनौना खेल: आडवाणी

Image caption गडकरी के बचाव में आए आडवाणी.

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी खुलकर पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी के बचाव में आ गए हैं.

उन्होंने कहा है कि नितिन गडकरी पर जो आरोप हैं, वे कारोबार के मानदंडों को लेकर हैं ना कि सत्ता के दुरुपयोग या भ्रष्टाचार के.

आडवाणी ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष पर जो आरोप लगे हैं, उनमें वो पाक साफ साबित हो चुके हैं.

आडवाणी ने सरकार पर आरोप लगाया कि इस तरह के आरोप सत्तारुढ यूपीए पर लगे अभूतपूर्व आरोपों को बेअसर करने के लिए लगाए जा रहे हैं.

उन्होंने कहा, "मेरा मानना है कि भाजपा को दूसरी पार्टियों से अलग होना चाहिए और आरोपों कैसे भी हों, उन्हें कोई छूट का दावा नहीं करना चाहिए."

उन्होंने कहा, मैं समझता हूं कि सरकार इस जांच को निष्पक्षता और बिना द्वेष से कराएगी."

घिनौना

आडवाणी ने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों को बेअसर करने के लिए जो नीति अपना रही है वो निहायत ही घिनौना है.

उन्होंने कहा कि सरकार हर राजनीतिक वर्ग को एक ही रंग में रंगने की कोशिश कर रही है.

गडकरी के बचाव में उन्होंने कहा कि भूमि को लेकर अनियमितताएं बरतने संबंधी भाजपा अध्यक्ष पर लगे आरोप खुद मीडिया की रिपोर्ट से ही गलत साबित हो चुके हैं.

उन्होंने कहा कि अपने कारोबार में निवेश के संबंध में सवालों पर भी गडकरी ने कंपनी मामलों के विभाग से जांच कराने की बात कह कर अपने को पाक साफ साबित कर दिया है.

आडवाणी ने गडकरी को इस बात के लिए बधाई भी दी कि उन्होंने स्वेच्छा से आरोपों की जांच के लिए मदद की.

संबंधित समाचार