तमिलनाडु-आंध्र प्रदेश में तूफ़ान की आशंका

Image caption तटीय इलाक़ों में मछुआरों को समंदर में न जाने की सलाह दी गई है

तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में चक्रवाती तूफान की आशंका जताई जा रही है. मौसम विभाग ने बुधवार तक चक्रवाती तूफान के तमिलनाडु के तटीय इलाकों में पहुंचने की आशंका जताई है.

मौसम विभाग ने इस तूफ़ान को नीलम नाम दिया है.

मंगलवार से ही चेन्नई, कांचीपुरम, क्यूड्डालोर और विल्लुपुरम इलाके में भारी बारिश शुरू हो गई है. इस बारिश को चक्रवाती तूफ़ान का आगाज़ माना जा रहा है.

तूफान के ख़तरे को देखते हुए सरकार स्कूलों में छुट्टियों की घोषणा कर दी गई है. सुबह से हो रही भारी बारिश की वजह से रोजमर्रा के कामों के लिए सड़कों पर निकले लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

मौसम वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि बुधवार तक चक्रवाती तूफ़ान नागापट्टिनम और नेल्लोर को पार कर जाएगा.

भारी बारिश के आसार

मौसम विभाग का कहना है चक्रवाती तूफान पश्चिमी तट से लेकर श्रीलंका के तटीय इलाकों और आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु को अपनी चपेट में ले सकता है.

मौसम विभाग ने 25 सेंटीमीटर तक भारी बारिश के आसार बताए हैं. चक्रवात की वजह से लोगों को तेज हवाओं और आंधी का भी सामना करना पड़ सकता है.

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अगले बारह घंटो के भीतर इन इलाकों में तेज आंधी (45 से 55 किमी/घंटे) और मूसलाधार बारिश हो सकती है. तेज हवाओं के झोंके की रफ्तार बढ़कर 65 किमी/घंटे तक भी पहुंचने की आशंका जताई गई है.

अगले 48 घंटे तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश और पुड्डुचेरी के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं. तूफान की आशंका को देखते हुए मछुवारों को समंदर में ना जाने की सलाह दी गई है.

संबंधित समाचार