'ताकतवर लोगों को क्यों छूते हो?'

  • 3 नवंबर 2012
रवि श्रीनिवास

कुछ दिन पहले तक ट्विटर पर रवि श्रीनिवास के सिर्फ 16 फॉलोअर्स थे. पर वित्तमंत्री पी चिदंबरम के उद्योगपति बेटे कार्ति चिदंबरम के बारे में ट्विटर पर उनकी टिप्पणी के बाद ये संख्या बढ़कर ढाई हज़ार के करीब पहुँच गई है.

पर वो लमहा उनके और उनके परिवार वालों के लिए बेहद डरावना था जब तड़के पाँच बजे पुलिस वालों ने उनके दरवाज़े पर दस्तक दी थी और उन्हें गिरफ़्तार करके ले गए.

उन्होंने देश के वित्तमंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम और सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के बारे में ट्विटर पर टिप्पणी की थी.

पांडिचेरी से बीबीसी हिंदी सेवा से बात करते हुए रवि श्रीनिवास ने कहा, “मुझे इस बात की खुशी है कि इतने लोग मेरा समर्थन कर रहे हैं.”

लेकिन अभी उन्हें ये नहीं मालूम है कि उन्हें फॉलो करने वाले क्या लिख रहे हैं. पिछले दो दिनों से श्रीनिवास ने अपना ट्विटर एकाउंट नहीं खोला है.

लेकिन उन्होंने कहा है कि न तो वो इस पुलिस केस से डरते हैं और न ही कार्ति चिदंबरम से माफी माँगेंगे. श्रीनिवास ने कहा, “मैं महसूस करता हूँ कि भारत में आम लोगों को अगर ज़्यादा नहीं तो कम से कम इतनी (बोलने की) आज़ादी तो होनी ही चाहिए.”

बंगलौर के आर वी कॉलेज से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल कर चुके रवि श्रीनिवास ने 19 अक्तूबर की देर रात ट्विटर पर कार्ति चिदंबरम के बारे में ट्वीट किया और उसे भूल गए. सिर्फ 16 लोग जिसे ट्विटर पर फॉलो करते हों, उसके लिए ऐसे एक ट्वीट को याद रखने की कोई वजह भी नहीं थी.

आपबीती

Image caption रवि ने अपनी पत्नी से बुरी से बुरी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है.

लेकिन 30 अक्तूबर यानी मंगलवार को तड़के पाँच बजे उनके दरवाज़े की घंटी बजी. उसके बाद की पूरी दास्ताँन ख़ुद रवि श्रीनिवास ने इस शब्दों में बयान की:

“मेरी बेटी ट्यूशन के लिए जाती है उसे लेने ऑटोवाला आता है. पर उस दिन कुछ और लोग थे उन्होंने पूछा कि क्या ये रवि का घर है. मेरी पत्नी ने मुझे बताया. जब मैं बाहर गया तो मैंने एक पुलिस जीप को खड़ा पाया.

“चार लोग वहाँ मौजूद थे. मैने उनसे पूछा कि आप क्यों आए हैं. उन्होंने मुझसे दरवाज़ा खोलने को कहा. मैंने दरवाजा खोला और फिर पूछा कि आप क्यों आए हैं. उन्होंने जवाब दिया कि कारण आप खुद जानते हैं. मैंने उनसे उनका पहचान पत्र माँगा तो वो नाराज़ हो गए.

“उन्होंने अपना पहचानपत्र निकाला और अपना परिचय दिया. फिर मुझे बाँह से पकड़ते हुए कहा कि आप गिरफ़्तार किए जाते हैं. हमारे साथ आइए. उन्होंने मुझे जीप में डाल दिया.

“मैने अपनी पत्नी से कहा कि वो मेरे भाई को इसकी सूचना दे दे. मेरी पत्नी ने मुझे बताया कि दो दिन तक उसे पता नहीं चला कि मैं कहाँ था.”

ताकतवर लोग

रवि श्रीनिवास को एक पुलिस स्टेशन ले जाया गया. श्रीनिवास ने कहा, "वहाँ एक पुलिस वाले ने इशारों में कहा कि मैंने पी चिदंबरम के बेटे और सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा जैसे ताकतवर लोगों को छूने की कोशिश क्यों की?"

श्रीनिवास ने बताया कि पुलिस वाले कुछ देर बाद कुछ फोटोकॉपी किए हुए दस्तावेज़ लाए और उन्हें बताया गया कि कार्ति चिदंबरम ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की है. उन दस्तावेज़ों में पुलिस के बड़े बड़े अफसरों ने दस्तख़त किए थे.

श्रीनिवास ने बीबीसी से बातचीत में कहा, “मैंने इससे भी ज़्यादा तीखे ट्वीट देखे हैं. जिनमें गलत भाषा का इस्तेमाल किया गया था. मैं अभी तक नहीं समझ पाया हूँ कि उन्हें ऐसे आदमी की परवाह क्यों हुई जो सिर्फ 16 लोगों के लिए ट्वीट करता हैं.”

देश के ताकतवर वित्तमंत्री के बेटे की ओर से दर्ज शिकायत के बारे में श्रीनिवास कहते हैं, “मैं बुरी से बुरी स्थिति के लिए तैयार हूँ. मेरी आत्मा कहती है कि मैंने कुछ ग़लत काम नहीं किया है. मैं अपनी पत्नी को समझा चुका हूँ कि अगर इसके लिए मुझे जेल जाना पड़ा तो तुम इसके लिए तैयार रहना.”

संबंधित समाचार