तेल अवीव में एक बस में धमाका

  • 21 नवंबर 2012
Image caption तेल अवीव के पास बस में धमाका.

इसराइल की व्यवसायिक राजधानी तेल अवीव में एक बस में हुए धमाके में कम से कम दस लोगों के घायल होने की ख़बर है.

एक इसराइली अधिकारी ने धमाके के बारे में बताया कि यह सेना मुख्यालय के पास हुआ है और चरमपंथियों का हमला हो सकता है.

यह विस्फोट वैसे समय में हुआ है जब इसराइल ने गज़ा और हमास के अहम ठिकानों पर अपने हमले जारी रखे हैं. दूसरी और चरमपंथी इसराइल पर राकेट से बमबारी कर रहे हैं.

हालांकि दोनों पक्षों के बीच शांति के लिए अंतरराष्ट्रीय कोशिशें जारी हैं. येरूशलम के पश्चिमी तट और काहिरा में मध्यस्थता करने वालों के बीच बातचीत चल रही है. अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और सयुंक्त राष्ट्र के महासचिव बान की-मून इलाके में शांति बातचीत में हिस्सा लेने के लिए मौजूद हैं.

इसराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के प्रवक्ता आफिर गेंडलमेन ने अपने ट्विटर एकाउंट में लिखा है कि बस में धमाका बम की वजह से हुआ है और यह चरमपंथियों का हमला है.

आपात सेवा के मुताबिक घायलों में तीन की स्थिति नाज़ुक है.

हमास ने मनाया जश्न

हमास के प्रवक्ता सामी अबू जौहरी ने समाचार एजेंसी रायटर को बताया, “ हम तेल अवीव में हुए हमले से ख़ुश हैं, ये गज़ा में इसराइली हिंसा का स्वभाविक जवाब है.”

स्थानीय रेडियो पर जब हमले की ख़बर प्रसारित हुई तो हमास के चरमपंथियों ने बंदूक से फ़ायरिंग करके जश्न मनाया.

इसराइली विदेश मंत्रालय के मुताबिक तेल अवीव में इससे पहले अप्रैल, 2006 में हमला हुआ था. तब एक आत्मघाती चरमपंथी ने रेस्टोरेंट में हमला किया था, जिसमें ग्यारह लोगों की मौत हो गई थी.

इसराइल और इमास के चरमपंथियों के बीच बीते आठ दिन से संघर्ष जारी है. इस संघर्ष में अब तक एक सौ उनचालीस फलस्तीनी और पांच इसराइली लोगों की मौत हो चुकी है.

तेल अवीव में हुए बस धमाके से शांति बहाली की कोशिशों को धक्का लगा है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार