वॉलमार्ट ने की अपने सीएफओ की छुट्टी

वॉलमार्ट
Image caption भारत में वॉलमार्ट की रफ्तार होगी धीमी

दुनिया की नामी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने अपनी भारतीय इकाई के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) और पूरी कानूनी टीम को निलंबित कर दिया है.

इकॉनमिक टाइम्स अखबार ने खबर दी है कि ये कदम अमरीका के रिश्वत विरोधी कानून के उल्लंघन के संदेह पर उच्च स्तरीय वैश्विक जांच के तहत उठाया गया है.

भारती-वॉलमार्ट प्राइवेट लिमिटेड ये जांच पूरी होने तक भारत में अपने कैश एंड कैरी स्टोर्स खोलने की योजना को धीमी गति से आगे बढ़ाएगा.

मामले से जुड़े दो लोगों ने बताया कि करीब दो हफ्ते पहले भ्रष्टाचार विरोधी दस्ते ने कानूनी टीम के पांच सदस्यों को अलग-अलग समन किया था.

दफ्तर में जाने से रोका

इन लोगों को जांच पूरी होने तक भारती-वॉलमार्ट के दफ्तर में दाखिल न होने को कहा था.

इन पांच लोगों में सीएफओ भी शामिल थे, जो कंपनी के कार्यवाहक कानूनी सलाहकार भी हैं. उनके अलावा एक सीनियर मैनेजर, एक मैनेजर, एक असिस्टेंट मैनेजर और एक रीटेनर शामिल था.

स्टोर्स खोलने के लिए लाइसेंस हासिल करने और रीयल एस्टेट की मंजूरी लेने के साथ ही टैक्स और लॉजिस्टिक्स से जुड़े काम-काज को देखना इनका काम था.

इस जांच का मकसद ये पता लगाना है कि इन लोगों ने सरकारी अफसरों को घूस दी या नहीं.

संबंधित समाचार