महिलाओं को सम्मान देने की मिलेगी सीख

 शनिवार, 22 दिसंबर, 2012 को 00:14 IST तक के समाचार

महिलाओं को सम्मान दिलाने के लिए सरकार की नयी मुहिम

नई दिल्ली में चलती बस में एक छात्रा के साथ गैंगरेप के बाद संसद से सड़क तक आक्रोश दिखाई दे रहा है. इस आक्रोश ने सरकार पर भी असर दिखाया है.

केंद्र सरकार अब एक नयी योजना बनाने जा रही है जिसके तहत किशोर होते लड़कों के चरित्र निर्माण पर जोर दिया जाएगा और महिलाओं के प्रति सम्मान का भाव उन्हें बचपने से सिखाया जाएगा.

केंद्रीय महिला और बाल कल्याण मंत्री कृष्णा तीरथ ने कहा कि इस योजना का प्रस्ताव जल्द ही कैबिनेट के सामने रखा जाएगा. तीरथ के मुताबिक यह काफी हद तक बालिकाओं के सशक्तिकरण की केंद्रीय राजीव गांधी योजना जैसी होगी.

सरकार के मुताबिक किशोर से युवा होते लड़कों ऐसी शिक्षा देने की जरूरत है जिससे वे जीवन में आगे चलकर महिलाओं के साथ होने वाले अपराध के प्रति संवेदनाशून्य नहीं रह पाएंगे.

नई योजना

"हमें लड़कों का चरित्र निर्माण इस तरह से करना होगा ताकि वे महिलाओं को अपनी मां और बहन जैसी इज्जत दे सकें."

कृष्णा तीरथ, केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री

जल्द से जल्द इस योजना को देश भर में लागू किए जाने की जरूरत है. केंद्रीय मंत्री ने ये फ़ैसला लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के चैंबर में महिला सांसदों के साथ हुई बैठक के बाद लिया.

उन्होंने उम्मीद जताई है कि इस योजना के तहत 11 से 18 साल के बच्चों को ऐसी सीख दी जाएगी जिससे देश भर में महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को कम किया जा सके.

कृष्णा तीरथ ने कहा, “इसका उद्देश्य पुरुषों की मानसिकता को बदलना है. पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं के साथ अत्याचार के मामले लगातार बढ़े हैं, ऐसे में कम उम्र से ही जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाने की जरूरत है. हमें लड़कों का चरित्र निर्माण इस तरह से करना होगा ताकि वे महिलाओं को अपनी मां और बहन जैसी इज्जत दे सकें.”

बलात्कारियों को क्या मौत की सजा दी जानी चाहिए?

इस सवाल के जवाब में कृष्णा तीरथ ने बताया कि बलात्कार से संबंधित कानून में संशोधन करके दोषियों को उम्र क़ैद की सज़ा दिए जाने का प्रस्ताव संसद में विचाराधीन है और अगर सांसद, ख़ासकर महिला संसद सदस्य दोषियों को मौत की सजा देने की मांग करती हैं तो सरकार मौजूदा प्रस्ताव में इस पहलू को शामिल कर सकती है.

चलती बस में छात्रा के साथ हुए गैंग रेप हादसे की कड़ी निंदा करते हुए कृष्णा तीरथ ने कहा कि वे पीड़िता की इलाज के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष से मदद देने के लिए प्रधानमंत्री को खत लिखेंगी.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.