अहमदाबाद टी-20: रनों के तूफ़ान में भारत की जीत

 शुक्रवार, 28 दिसंबर, 2012 को 22:47 IST तक के समाचार
क्रिकेट मैच

जीत के साथ भारत ने सीरिज़ बराबर की

अहमदाबाद में हुए एक दिलचस्प टी 20 मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 11 रन से हरा दिया है. रनों के तूफ़ान में कुल 14 छक्के और 37 चौके लगे.

भारत के बीस ओवरों में 192 रन के जवाब में पाकिस्तान ने सात विकेट पर 181 रन बनाए.

इस तरह से दो मैचों की ये टी -20 सिरीज़ 1-1 की बराबरी पर खत्म हुई.

एक मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान के युवा ओपनर नासिर जमशेद अहमद शहज़ाद ने संभल कर शुरुआत की.

दो ओवर के बाद दोनों बल्लेबाज़ों ने अपने हाथ खोले और छठे ओवर की पहली गेंद पर पचास रन पूरे कर लिए.

भारत को पहली सफलता दसवें ओवर में मिली जब अश्विन ने जमशेद को 41 रनों पर आउट किया. उन्होंने 32 गेंद में 41 रन बनाए. पाकिस्तान का स्कोर था 74 पर एक विकेट.

दस ओवर में पाकिस्तान का स्कोर था 1 विकेट पर 75 रन.

अगले ओवर में युवराज सिंह ने शहजाद को 31 के निजी स्कोर पर धोनी के हाथों स्टंप करवाया और पाकिस्तान को दूसरा झटका दिया.

लेकिन यहां से कप्तान मोहम्मद हफीज ने उमर अकमल के साथ मिलकर भारतीय गेंदबाज़ों पर तेज हमला बोला.

आखिरी 5 ओवरों में पाकिस्तान को जीत के लिए 57 रनों की ज़रूरत थी और उसके पास 8 विकेट शेष थे.

यहां से मैच किसी भी तरफ जा सकता था.

लेकिन 17वें ओवर में अशोक डिंडा ने उमर अकमल को क्लीन बोल्ड कर भारतीय दर्शकों में दोबारा जोश भर दिया. अकमल ने 20 गेंदों पर 24 रन बनाए.

लेकिन दूसरी तरफ पाकिस्तान के कप्तान हफीज जमे हुए थे और उन्होंने बैंगलौर के बाद .यहां भी अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की.

आखिरी दो ओवरों में पाकिस्तान को जीत के लिए 26 रनों की ज़रूरत थी.

लेकिन 55 रन बनाकर हफीज जब आउट हुए तो पाकिस्तान की उम्मीद भी लगभग खत्म हो गई. उनका कैच रैना ने डिंडा की गेंद पर पकड़ा.

आखिरी ओवर में पाकिस्तान को 20 रन चाहिए थे लेकिन मेहमान टीम वहां तक पंहुच नहीं सकी.

भारत की तरफ से डिंडा ने तीन विकेट लिए.

भारतीय पारी

युवराज सिंह को शानदार 72 रन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

इससे पहले युवराज सिंह की बेहतरीन पारी की मदद से भारत ने पाकिस्तान के सामने 193 रनों का लक्ष्य रखा है.

युवराज ने सिर्फ 36 गेंदों में 7 छक्के और 4 चौकों की मदद से 72 रन बनाए और भारतीय ने 20 ओवरों में पांच विकेट पर 192 रन बनाए.

पाकिस्तान ने बंगलौर के बाद अहमदाबाद में भी टॉस जीता और पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया.

भारत ने टीम में एक बदलाव किया– रविंद्र जडेजा की जगह रविचंद्रन अश्विन टीम में आए. जबकि पाकिस्तान ने उसी टीम को उतारा जिसने पहले मैच में जीत दर्ज की थी.

पाकिस्तान के नए तेज़ गेंदबाज़ मोहमम्द इरफान ने एक बार फिर नई गेंद संभाली और दोनों भारतीय ओपनर गंभीर और रहाणे को परेशान किया.

लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने दूसरी छोर से गेंदबाज़ी कर रहे सोहेल तनवीर की धुलाई की और उनके पहले दो ओवरों में 21 रन जोड़े.

पाकिस्तान को पहली सफलता पांचवे ओवर में मिली जब उमर गुल ने गंभीर को पगबाधा आउट किया.

गुल ने अपने अगले ओवर में रहाणे को भी पवेलियन का रास्ता दिखाया. रहाणे ने 28 रन बनाए. इन दो विकेटों से भारत की रन गति धीमी हो गई.

दस ओवर खत्म होने पर भारत का स्कोर था दो विकेट पर 75 रन.

विराट कोहली 27 रन बनाकर रन आउट हो गए. उस वक्त भारत का स्कोर था 88 रन.

मैच में पाकिस्तान का शिकंजा कसता जा रहा था कि युवराज सिंह ने अगले ओवर में अफरीदी की गेंद पर छक्का जड़ कर अपने मंसूबे को साफ कर दिया. इस ओवर नें भारत ने 17 रन जोड़े.

धोनी के साथ युवराज ने पारी को संभाला. 15 ओवर में भारत ने तीन विकेट पर 118 रन बना लिए थे. दोनों ने 27 गेंदो में 50 रनों की साझेदारी निभाई.

18वें ओवर में युवराज ने तनवीर की गेंद पर दो लगातार छक्के लगाकर अपना अर्ध शतक पूरा किया.

इसके बाद युवराज ने अजमल की गेंद पर तीन छक्के जड़े. आखिरी ओवर में युवराज

72 रन बनाकर गुल की गेंद पर आउट हुए. धोनी ने युवराज का अच्छा साथ दिया और 33 रन बनाए.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.