राज ठाकरे के बयान पर सियासी हंगामा

 रविवार, 6 जनवरी, 2013 को 17:42 IST तक के समाचार

राज ठाकरे पहले भी उत्तर भारतीयों के खिलाफ़ आग उगलते रहे हैं.

बिहारियों के प्रति विवादास्पद बयान देने पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे की नेताओं ने तीखी आलोचना की है.

राज ठाकरे ने कहा कि 'सभी बलात्कार-बलात्कार चिल्ला रहे हैं लेकिन सभी बलात्कारी बिहार के हैं ये कोई नहीं कह रहा है.'

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा है कि ये बयान बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान से देश भी कमजोर होता है और लोकतंत्र भी कमजोर होता है.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेता लालू यादव ने राज ठाकरे के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इस तरह की कटुतापूर्ण बात नहीं की जानी चाहिए.

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल युनाइटेड के अलि अनवर अंसारी ने कहा,"इनको आदत है, इस तरह की बात बोलने की, इस तरह से लोगों को लांछित करने की. यह कोई एक राज्य की बात है? यह कोई एक इलाके की बात है?"

बिहार के भाजपा नेता और राज्य काबीना के मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा,"अगर इस तरह का बयान राज ठाकरे ने दिया है तो वे अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं. नफरत फैलाकर कोई राजनीति की सीढ़ी चढ़ना चाहता है तो यह स्थाई नहीं हो सकता है."

विवादास्पद बयान

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने एक और विवादास्पद बयान दिया है.

उन्होंने मराठी भाषा में दिए गए भाषण में कहा, “मुझे बलात्कार पीड़ित से सहानुभूति है और ऐसा किसी के साथ भी नहीं होना चाहिए. लेकिन क्या किसी ने पूछा कि बलात्कार करने वाले कौन थे. इसके बारे में कोई नहीं बोल रहा है.

उन्होंने आगे कहा, "सभी बलात्कार-बलात्कार चिल्ला रहे हैं लेकिन सभी बलात्कारी बिहार के हैं ये कोई नहीं कह रहा है.”

इससे पहले महाराष्ट्र में बिहारियों को 'घुसपैठिया' करार देने वाले मुंबई के मराठी नेता राज ठाकरे के ख़िलाफ़ दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया हुआ है.

विवादों से पुराना नाता

"क्या किसी ने पूछा कि बलात्कार करने वाले कौन थे. इसके बारे में कोई नहीं बोल रहा है.सभी बलात्कार-बलात्कार चिल्ला रहे हैं लेकिन सभी बलात्कारी बिहार के हैं ये कोई नहीं कह रहा है."

राज ठाकरे

राज ठाकरे ने इस तरह का बयान पहले भी दिया था जब उन्होंने मुंबई हमलों का तार बिहार से जुड़ने की बात की थी.

राज ठाकरे ने जनवरी 2012 में उत्तर भारतीयों पर प्रहार करते हुए कहा था कि 13 जुलाई 2011 के मुंबई हमलों के मामले में बिहार के कथित चरमपंथियों का ग़िरफ़्तार किया जाना ये दर्शाता है कि इस हमले का बिहार से संबंध था.

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा था, “मैं बहुत समय से कह रहा हूं कि उत्तर भारत से मुंबई आ कर बसने वालों की बढ़ती तादाद की वजह से चरमपंथी घटनाओं में बढ़ोत्तरी हुई है.

13/7 को मुंबई में हुए सिलसिलेवार हमलों के मामले में बिहार के कुछ संदिग्धों की ग़िरफ़्तारी ने मेरे दावे की पुष्टि की है. इस हमले के तार बिहार से जुड़े होने की बात साबित हो गई है. क्या इस बात पर कोई ध्यान देगा या नहीं? मुझे समझ नहीं आता कि मेरे बयानों पर इतना बवाल क्यों बनाया जाता है.”

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.