शिंदे के बयान पर सुषमा के तीखे तेवर

 गुरुवार, 24 जनवरी, 2013 को 15:43 IST तक के समाचार
सुषमा स्वराज

भाजपा शिंदे के इन आरोपों से बेहद नाराज है

विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के इस्तीफे की मांग को लेकर गुरुवार को भारत के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन किए हैं.

पिछले सप्ताह शिंदे ने जयपुर में चल रहे कांग्रेस चिंतन शिविर में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर क्लिक करें हिंदू आतंकियों को कथित तौर पर प्रशिक्षण देने का आरोप लगाया था.

भाजपा शिंदे के इन आरोपों से बेहद क्लिक करें नाराज है. उधर कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा है कि भाजपा अपनी कमियों को छिपाने के लिए ये प्रदर्शन कर रही है.

दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शनों की शुरुआत करते हुए लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा, “भगवा और आतंक एक दूसरे के विपरीत हैं. गृहमंत्री को अपने शब्द वापस लेने चाहिए और माफी मांगनी चाहिए. सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंह को माफी मांगनी चाहिए और शिंदे को पद से हटा देना चाहिए.”

स्वराज के मुताबिक भारत के विरुद्ध चलने वाले पाकिस्तानी आतंकी कैंपो की आलोचना करने के बजाय गृह मंत्री ने देश के मुख्य विपक्षी दल को ही निशाना बनाया है.

क्लिक करें नए भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने इस मौके पर कहा कि सुशील शिंदे के खिलाफ तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा जब तक उन्हें पद से हटा नहीं दिया जाता.

उन्होंने कहा कि पार्टी अपनी मांग को दोनों सदनों तक लेकर जाएगी.

अपराधी दल?

'साहेब' और 'जी'?

"जिस पार्टी के नेता जमात-उद-दवा प्रमुख हाफिज सईद को ‘साहेब’ और अल-कायदा प्रमुख को ओसामा ‘जी’ कह कर पुकारते हैं, वो आतंक से निपटने को लेकर गंभीर नहीं हो सकती"

राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष

सुषमा स्वराज ने कहा कि जब भारतीय सैनिक के सिर कलम करने का कथित वाकया पेश आया था तब उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को फोन करके बताया था कि वो प्रधानमंत्री को सूचना दे दें कि पाकिस्तान के खिलाफ उठाए गए किसी भी कड़े कदम पर भाजपा उनके साथ खड़ी होगी.

भाजपा ने पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम को वीजा दिए जाने पर भी आपत्ति जताई.

सुषमा स्वराज ने गोपाल कांडा और सुरेश कलमाड़ी जैसे दागी कांग्रेस नेताओं के नाम गिनाकर कहा कि इस आधार पर भाजपा ने कभी भी कांग्रेस को अपराधी दल करार नहीं किया था.

उधर राजनाथ सिंह ने कहा कि जिस पार्टी के नेता जमात-उद-दवा प्रमुख हाफिज सईद को ‘साहेब’ और अल-कायदा प्रमुख को ओसामा ‘जी’ कह कर पुकारते हैं, वो आतंक से निपटने को लेकर गंभीर नहीं हो सकती.

उन्होंने कहा कि शिंदे के बयान ने दुनिया भर में भारत की छवि को धूमिल किया है और इस मुद्दे पर सोनिया गाँधी का शांत रहना दिखाता है कि उन्हें अपने वोट बैंक के मजबूत होने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.