तनाव के बीच भारत-पाक वार्ता स्थगित

 रविवार, 27 जनवरी, 2013 को 13:30 IST तक के समाचार

जनवरी महीने में दूसरी बार दोनों देशों के बीच वार्ता स्थगित हुई है.

भारत और पाकिस्तान के जल सचिवों के बीच 28 और 29 जनवरी को इस्लामाबाद में होनेवाली बातचीत स्थगित हो गई है. पाकिस्तानी मीडिया में छपी ख़बरों के मुताबिक कि दोनों देशों के बीच नियंत्रण रेखा पर युद्ध विराम संधि के उल्लंघन से उपजे तनाव के कारण ऐसा किया गया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, "दोनों देशों के बीच होनेवाली वार्ता फिलहाल स्थगित हो गई है. बातचीत की नई तारीख़ों के बारे में अभी कोई फैसला नहीं हुआ है."

हालांकि अपनी पहचान ज़ाहिर न करनेवाले इस पाकिस्तानी अधिकारी ने बातचीत के स्थगित होने के कारणों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी.

दोनों देशों के जल सचिवों के बीच होनेवाली इस बातचीत में तुलबुल नौपरिवहन परियोजना-वुलर बैराज को लेकर वार्ता होनी थी.

पाकिस्तानी मीडिया के कुछ हलकों में सूत्रों के हवाले से ऐसी ख़बरें हैं कि दोनों देशों के बीच बातचीत का निलंबन हाल में सीमा रेखा पर तनाव की वजह से हुआ है.

हालांकि भारत से मिली ख़बरों में कहा गया है कि बातचीत का स्थगन देश के जल सचिव डी वी सिंह की इस महीने के आखिर में हो रही सेवानिवृत्ति की वजह से किया गया है.

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर हुई हिंसा में दो भारतीय सैनिकों के मारे जाने और उनके पार्थिव शरीर के क्षतविक्षत स्थिति में पाए जाने के बाद ये दूसरा मौक़ा है जब दोनों देशों के बीच ऐसी उच्चस्तरीय वार्ता स्थगित की गई है.

उधर पाकिस्तान का दावा है कि 2003 में हुए युद्धविराम के उल्लंघन का ये सबसे बड़ा मामला है जिसमें उसके तीन सैनिक मारे गए हैं.

इस महीने की शुरुआत में पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्री मख़दूम आमिन फ़हीम ने इसी वजह से आगरा में होनेवाली एक कारोबारी बैठक को स्थगित कर दिया था.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.