पाक महिला टीम का स्टेडियम में डेरा

  • 29 जनवरी 2013
पाकिस्तानी महिला क्रिकेट टीम

ओडिशा के भुवनेश्वर और कटक के होटलों ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पाकिस्तानी महिला क्रिकेट टीम को अपने यहां ठहराने से मना कर दिया है.

विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार होटलों के इस रवैए में तब भी कोई बदलाव नहीं आया जब पुलिस ने कहा कि वो उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने के बेहतर से बेहतर इंतज़ाम करेंगे.

पुलिस ने शहर के चुनिंदा फाइव-स्टार होटलों के इनकार के बाद कुछ थ्री-स्टार और टू-स्टार होटलों से संपर्क किया और उनसे मेहमान टीम को पनाह देने का आग्रह किया था, लेकिन उन्होंने किसी भी तरह के जोखिम लेने से मना कर दिया.

हालांकि पुलिस और होटल प्रबंधन इस बारे में खुलकर कोई बात करने को तैयार नहीं है.

क्यों मोलें मुसीबत?

नाम गुप्त रखने की शर्त पर भुवानेश्वर एक बड़े होटल के मैनेजर ने बीबीसी से कहा, "जब बड़े होटल वाले, जिनके पास हमसे ज्यादा मानव संसाधन और अन्य सुविधाएँ हैं, पाकिस्तानी टीम को रखकर जोखिम नहीं उठाना नहीं चाहते, तो हम क्यों मुसीबत मोल लें?"

पुलिस के आश्वासन के बारे में उनका कहना था, "आपको याद होगा कुछ साल पहले कड़ी सुरक्षा के बावजूद भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के तत्कालीन कोच ग्रेग चैपल को भुवनेश्वर हवाई अड्डे पर किसी ने थप्पड़ मार दिया था. ऐसे में पुलिस के आश्वासन पर हम कैसे भरोसा कर सकते हैं? कुछ ऊँच-नीच हो गई तो हमारे होटल की बदनामी होगी."

हालांकि मेजबान ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव आशीर्वाद बेहेरा इस बात से इनकार करते हैं कि होटलों ने मेहमानों को ठहराने से मना कर दिया. वो कुछ होटलों के नाम भी गिनवाते हैं.

लेकिन एसोसिएशन को पाकिस्तानी टीम को ठहराने का इंतज़ाम बारबती स्टेडियम के अंदर बने क्लब में करना पड़ा है.

जब टीम को क्लब में ठहराने की वजह पर उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "यह कोई एक या दो दिन का मामला तो है नहीं, पाकिस्तानी टीम पूरे 15 दिन यहां रहेगी. होटल से स्टेडियम आने, जाने में खिलाडियों की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती थी इसलिए पुलिस के आला अधिकारियों की सलाह के अनुसार हमने उनके रहने का इंतज़ाम ओसीए क्लब में किया है."

जल्दी-जल्दी में तैयारी

लेकिन सूत्रों का कहना है कि हालांकि क्लब का औपचारिक उदघाटन एक फरवरी को होना है, लेकिन होटलों के मना करने के बाद इसे आनन फ़ानन में तैयार करना पड़ा.

पाकिस्तानी टीम ने इस मामले में किए गए इंतज़ाम पर पूरा संतोष व्यक्त किया है.

सोमवार को टीम की प्रैक्टिस के बाद मेनेजर आयशा असार ने कहा, हम प्रैक्टिस और रहने के इंतज़ाम से पूरी तरह संतुष्ट हैं."

कोच बासित अली का कहना था कि बारबती के अन्दर रहने और अभ्यास करने के कारण टीम फायदे में रहेगी. उन्होंने कहा, "इससे हमारे खिलाड़ी मैदान और पिच दोनों से अच्छी तरह अभ्यस्त हो जाएँगे."

पाकिस्तानी टीम अपने सभी मैच बारबती में खेलेगी. पहला मैच एक फरवरी को है. मंगलवार को मेहमान और ओडिशा महिला क्रिकेट टीम के बीच अभ्यास मैच है.

संबंधित समाचार