ममता बनर्जी के हुक्म पर मुझे रोका गया: रुश्दी

  • 1 फरवरी 2013
मिडनाइट चिल्ड्रेंस
Image caption सलमान रूश्दी अपनी पुस्तक मिडनाइट चिल्ड्रेंस पर आधारित फिल्म के प्रोमोशन के लिए इन दिनों भारत में हैं.

मशहूर विवादित अंग्रेज़ी लेखक सलमान रुश्दी ने आरोप लगाया है कि कोलकाता में उनकी उपस्थिति पर रोक मुख्य मंत्री ममता बनर्जी के कहने पर लिया गया है.

भारतीय मूल के से तालुक्क़ रखने वाले ब्रितानी लेखक ने पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री पर ये आरोप अपने ट्वीट में लगाया है.

सलमान रुश्दी को कोलकाता में होने वाले पुस्तक मेले में होने वाले एक आयोजन में शामिल होना था लेकिन राज्य सरकार और स्थानीय पुलिस प्रशासन की आपत्ति के बाद सलमान रुश्दी का कोलकाता दौरा रद्द कर दिया गया.

उन्होंने अपने ट्विटर संदेश में लिखा है, "पुलिस ने मेरा पूरा कार्यक्रम प्रेस और मुस्लिम नेताओं के हवाले कर दिया, ज़ाहिर है वो विरोधियों को उकसाना चाहते थे."

'झूठ बोल रहे हैं'

मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक आयोजकों ने कहा था कि सलमान रुश्दी के कोलकाता आने से रोकने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार के वरिष्ठ मंत्री ने दो-दो बार फोन किया.

हालांकि बाद में ये ख़बर भी आई कि मशहूर लेखक को कभी आमंत्रित ही नहीं किया गया था.

Image caption सलमान रूश्दी की किताब सैटेनिक वर्सेस के कुछ किरदारों को लेकर मुस्लिमों में भारी विरोध रहा है.

भारतीय अंग्रेज़ी साहित्य को विश्व पटल पर नई पहचान देने वाले सलमान रुश्दी ने आयोजनकर्ताओं को बारे में कहा है कि जब वो "कहते हैं कि मुझे कभी बुलाया नहीं गया था तो वो झूठ बोल रहे है. इसे साबित करने के लिए मेरे पास उनके ई-मेल और विमान टिकट मौजूद हैं."

उन्होंने कहा है कि उन्हें कोलकाता न आने के लिए कभी कोई दोस्ताना सलाह नहीं दी गई थी बल्कि कहा गया था कि अगर वो वहां आएंगे तो पुलिस उन्हें अगले विमान से वापस भेज देगी.

विवाद

भारत में सलमान रुश्दी का उपन्यास 'द सैटनिक वर्सेस' प्रतिबंधित है.

पिछले साल हुए जयपुर साहित्य महोस्तव में भी सलमान रुश्दी के आगमन को लेकर बड़ा ही विवाद हुआ था, और मुस्लिमों के एक वर्ग ने उन्हें निमंत्रित किए जाने पर विरोध किया था.

इसके बाद उनका दौरा रद्द हो गया था और कुछ लेखकों ने उनके पुस्तक के कुछ अंशों को पढ़कर इसका विरोध जताया था.

इस पर भी काफ़ी विवाद हुआ था.

संबंधित समाचार