कॉलेज ने क्यों बुलाया नरेंद्र मोदी को?

नरेंद्र मोदी
Image caption छह फरवरी को नरेंद्र मोदी एसआरसीसी जा रहे हैं जहां की दीवार पर लगा है यह पोस्टर.

दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को छात्रों को संबोधित करने के लिए बुला तो लिया है लेकिन कॉलेज के प्रिंसिपल से बहुत सारे सवाल पूछे जा रहे हैं.

बुधवार यानी छह फरवरी को नरेंद्र मोदी यहां एक कार्यक्रम के लिए आ रहे हैं और इस दौरान वो छात्रों से भी मुखातिब होंगे.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की दौड़ में सबसे आगे चल रहे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के आने से ऐसी चर्चा चल पड़ी है कि वो राजधानी दिल्ली के छात्रों को लुभाते नजर आएंगे.

लेकिन कॉलेज प्रिंसिपल का कहना है कि लगभग 10 लोगों को इस मौके के लिए निमंत्रण भेजा गया था लेकिन मोदी ने ही इसे स्वीकार किया. वो यह भी कह रहे हैं कॉलेज में कई बडे़ बड़े नेता और अभिनेता आते रहते हैं और नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को मीडिया अत्याधिक तवज्जो दे रहा है.

कॉलेज के प्रिंसिपल पीसी जैन का कहना है, ''यह तीन दिन का बिज़नेस कॉनकलेव है, जिसमें देश भर के कई कॉलेजों के छात्र अलग अलग कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे हैं. तीसरे और अंतिम दिन जो पुरस्कार वितरण समारोह होगा इसमें मुख्य अतिथि होंगे नरेंद्र मोदी. इसका आयोजन स्टूडेंट यूनियन कर रही है.''

पहले से तय सवाल

प्रबंधन की ओर से ऐसी अटकलों को भी खारिज किया जा रहा है कि इस कार्यक्रम का आयोजन कराने के पीछे किसी भाजपा नेता का हाथ है.

गुजराज के रेज़िडेंट कमिश्नर सारे इंतजाम देख रहे है. कॉलेज के प्रबंधन ने उनसे कह दिया है कि कॉलेज किसी को कोई न्योता नहीं भेजेगा और रेज़िडेंट कमिश्नर जिसे बुलाना चाहे बुला सकते है.

इतना ही नहीं मोदी के लिए पहले से ही दस छात्रों के सवालों को चुना जाएगा ताकि कोई असहज सवाल सामने न आए.

मौके की संवेदनशीलता को देखते हुए कॉलेज केवल छात्रों के पहचान पत्र देखकर अंदर आने की इजाज़त देगा ताकि कोई बाहर का व्यक्ति अंदर न आ सके.

गाड़ी से कॉलेज में प्रवेश करने के बाद मोदी स्टेडियम तक पैदल जाएंगे.

यूनियन का कार्यक्रम

प्रबंधन भी प्रयास कर रहा है कि यह कॉलेज के छात्रसंघ का कार्यक्रम लगे और कॉलेज प्रबंधन का इसमें कोई हाथ नहीं है. यह भी कहा जा रहा है कि वे तो केवल कॉलेज के वार्षिक बिज़नेस सम्मेलन में भाग लेने आ रहे हैं.

कॉलेज के प्रधानाचार्य पीसी जैन का कहना है, ''पिछली बार इस मौके पर तत्कालीन वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी आए थे.''

खास तौर पर यह जो़र दे कर कहा जा रहा है कि इसमें कोई राजनीति नहीं है. यह केवल बिज़नेस के छात्रों के लिए सम्मेलन का हिस्सा है.

एसआरसीसी छात्र संघ के उपाध्यक्ष सुदर्शन तपुरिया का कहना है ''यहां पर सब छात्रों में यह जिज्ञासा है कि वो क्या वजह है जिसके चलते गुजरात बिज़नेस मॉडल इतना कामयाब रहा है. हम चाहते थे कि अगर खुद मुख्यमंत्री इसके बारे में बता पाएं जो बहुत अच्छा होगा. यह एक बिज़नेस कार्यक्रम है और राजनीति का इससे कोई लेना देना नहीं है.''

जानकारी के मुताबिक मोदी इसके बाद कई अन्य जगहों पर भी ऐसे कार्यक्रम करने वाले हैं.

संबंधित समाचार