बिहार में दरिंदगी, बेटी समेत मां को ज़िंदा जलाया

वैशाली
Image caption पुलिस के मुताबिक इस मामले में मृतक महिला के परिजनों को ही अभियुक्त बनाया गया है.

बिहार के वैशाली ज़िले में 35 साल की एक महिला सम्पी देवी और उनकी तीन छोटी-छोटी बेटियों को शरीर में आग लगाकर मार डाला गया है.

ज़िला मुख्यालय हाजीपुर से लगभग 30 किलोमीटर दूर जन्दाहा थाना के अरनिया गाँव में बुधवार रात यह जघन्य कांड हुआ.

जन्दाहा पुलिस स्टेशन के दारोगा दयाशंकर प्रसाद ने बीबीसी को बताया कि इस हत्याकांड में मृत महिला के परिवार वालों को ही अभियुक्त बनाया गया है.

दारोगा ने कहा, ''मरने से पहले सम्पी देवी ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि उसके पति, ससुर, सास, देवर और ननद ने मिलकर पहले उसे पीटा, फिर उसे और उसकी तीनों बेटियों पर किरासन तेल डालकर आग लगा दी.''

जेवर चुराने का आरोप

सम्पी पर अपनी ननद के गहने चुराने के आरोप लगाए गए थे.

सम्पी देवी की दो से सात साल की उम्र वाली तीनों बेटियों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया और खुद उनकी मौत अस्पताल पहुंचकर हुई.

पुलिस का कहना है कि सम्पी देवी ने परिवार के जिन लोगों पर ये आरोप लगाए हैं, वे सभी गाँव-घर छोड़कर भाग गए हैं. इसलिए किसी की गिरफ़्तारी नहीं हो पाई है.

वैसे, ये भी आशंका ज़ाहिर की जा रही है कि तीन बेटियों को जन्म देने वाली सम्पी देवी से नफ़रत भी इस घटना की एक वजह हो सकती है.

कुछ गाँव वालों ने पुलिस को संकेत दिया है कि सम्पी देवी के परिजनों ने गहने चुराने का आरोप मढ़कर, बेटियों सहित उसकी हत्या की साज़िश रचकर और इस घटना को अंजाम दिया होगा.

संबंधित समाचार