हेलिकॉप्टर घोटाले की जाँच में भारत को झटका

फिनमैकेनिका
Image caption हेलिकॉप्टर सौदे की पड़ताल के लिए सरकार एक संयुक्त टीम इटली भेज रही है

भारत सरकार को 12 इतालवी हेलिकॉप्टर की खरीद वाले विवादास्पद सौदे के मामले में इटली से झटका लगा है.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक मामले की सुनवाई कर रही इटली की अदालत ने भारतीय दूतावास को जांच से जुड़े दस्तावेज़ सौंपने के अनुरोध को खारिज कर दिया है.

करीब तीन हज़ार छह सौ करोड़ रुपए के इस विवादास्पद सौदे के आरोपी इटली के एयरोस्पेस और रक्षा उपकरणों के निर्माण से जुड़ी अहम कंपनी फिनमैकेनिका के मुखिया ग्विसेप्पे ओरसी की गिरफ्तारी के बाद रोम में भारतीय दूतावास ने 13 फरवरी को जांच से जुड़े ब्योरे और दस्तावेज साझा करने का अनुरोध किया था.

भारत में इस मामले की जाँच सीबीआई कर रही है.रक्षा मंत्री एके एंटनी पहले ही कह चुके हैं कि इस मामले में दोषियो को बख्शा नही जाएगा.

गोपनीयता की शर्त

इटली की अदालत ने भारतीय दूतावास के आग्रह को गोपनीयता और कानूनी बंदिशों का हवाला देते हुए ठुकरा दिया. शनिवार को भारतीय दूतावास को भेजे पत्र में अदालत ने कहा है कि उनके अनुरोध पर सकारात्मक जवाब देना अभी संभव नहीं है.

इतालवी न्यायाधीश ने कहा कि अभी जाँच की प्रक्रिया प्रारंभिक स्तर पर है और इस दौरान दंड संहिता के अनुच्छेद 329 के मुताबिक इसके तहत प्रारंभिक जांच के सभी दस्तावेज व जानकारियां गोपनीय होती हैं.

अदालत का कहना है कि इसके मुताबिक केवल संबंधित पक्ष और उनके वकील ही इन्हें हासिल कर सकते हैं.

हालांकि इतालवी अदालत ने यह स्पष्ट किया गया कि गोपनीयता की शर्त समाप्त होने के बाद यदि भारत की ओर से कोई नया प्रस्ताव आता है तो उस बारे में नए सिरे से विचार किया जाएगा.

संयुक्त टीम होगी रवाना

इस बीच मामले की पड़ताल करने के सिलसिले में सीबीआई और रक्षा मंत्रालय की एक संयुक्त टीम के इटली जाने की संभावना है. यह टीम इतालवी वकीलों से बात मुलाकात कर इस मामले का ब्योरा जुटाना की कोशिश करेगी.

इस बीच भारत ने कहा है कि 12 इतालवी हेलिकॉप्टर की खरीद वाले विवादास्पद सौदे को रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. सरकार के इस फैसले से फिनमैकेनिका को बहुत बड़ा झटका लगा है.

इटली के एयरोस्पेस और डिफेंस उपकरणों के निर्माण से जुड़ी अहम कंपनी फिनमैकेनिका के मुखिया ग्विसेप्पे ओरसी को रिश्वत लेने के आरोपों के मामले में मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया था.

संबंधित समाचार