मणिपुर: नशीले पदार्थों के साथ गिरफ्तार सैन्य अफसर

हेरोइन
Image caption रिपोर्टों के मुताबिक इन दवाओं को म्यामार ले जाया जा रहा था जहाँ इसकी युवाओं के बीच मांग है

मणिपुर पुलिस के अनुसार अपनी तरह की पहली घटना में उसने एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी को कथित तौर पर करोड़ो रुपए के मादक पदार्थों के साथ गिरफ्तार किया है.

मणिपुर पुलिस महानिदेशक वाइजे कुमार ने बीबीसी को बताया कि गिरफ्तार सैन्य अफसर का नाम लेफ्टिनेंट कर्नल अजय चौधरी है और वो सेना के 57 माउंटेन डिवीज़न के साथ जनसंपर्क अधिकारी के तौर पर कार्यरत हैं.

उनके साथ पाँच अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

गिरफ्तार किए गए दूसरे लोग हैं आरके बबलू और एनजी ब्रजेंद्र सिंह. बबलू असम में प्रादेशिक सेना में सिपाही के पद पर कार्यरत हैं जबकि ब्रजेंद्र सिंह इंफाल हवाईअड्डे पर एक विमानन कंपनी के लिए काम करते हैं.

गिरफ्तार किए गए तीन अन्य व्यक्ति इंफाल के रहने वाले हैं.

वाइजे कुमार के अनुसार इन सभी को रविवार सुबह नौ बजे के आसपास कथित तौर पर प्रतिबंधित दवा सूडोएफेड्रीन के साथ पकड़ा गया.

उनके मुताबिक ये दवा युवाओं के बीच इस्तेमाल की जाती है और साथ ही इसका इस्तेमाल हेरोइन निचोड़ने के लिए भी किया जाता है.

कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी लोग एक टाटा सफारी और दो बोलेरो गाड़ियों मे बैठे थे और ये गाड़ियाँ कथित तौर पर मादक पदार्थ सूडोएफेड्रीन से भरी थीं.

कुमार के मुताबिक दो बोलेरो गाड़ियों में से एक गाड़ी अजय चौधरी को आधिकारिक तौर पर दी गई थी.

उन्होंने बीबीसी को बताया कि अजय चौधरी मुंगेर, बिहार, के रहने वाले हैं.

रिपोर्टों के मुताबिक ये लोग कथित तौर पर ये दवाएँ म्यामार ले जा रहे थे जहाँ इसकी युवाओं के बीच काफी मांग है.

संबंधित समाचार