आडवाणी को लगती हैं सुषमा वाजपेयी की तरह

लालकृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज
Image caption आडवाणी ने सुषमा की वाकपटुता की जमकर तारीफ की.

ऐसे वक्त में जब भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हर तरफ नरेंद्र मोदी की चर्चा थी, पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सुषमा स्वराज की जम कर तारीफ की.

आडवाणी ने स्वराज की वाकपटुता की तुलना पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से की.

तीन दिनों के सम्मेलन में आडवाणी ने अपने भाषण में इस बात पर अफसोस जताया कि उनमें वाजपेयी जैसी बोलने की शैली नहीं आती लेकिन सुषमा स्वराज में ये गुण है.

उन्होंने कहा,"सुषमा ने मुझे ईर्ष्या की वही भावना दी जो वाजपेयी जी मुझे दिया करते थे. मैंने सुषमा से यह कहा भी कि आपने मुझमें ग्रंथि की भावना भर दी."

मोदी पर आडवाणी

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक सुषमा की मिली आडवाणी की वाहवाही की अहमियत बढ़ जाती है क्योंकि लोकसभा में विपक्ष की नेता को प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के शीर्ष दावेदारों में शुमार किया जाता है.

हालांकि आडवाणी ने नरेंद्र मोदी पर भी तारीफों के फूल बरसाए.

आडवाणी ने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में मोदी की छवि सबसे खराब तरीके से बिगाड़ी गई. ज्यादातर विदेशी सरकारों ने भी मोदी के प्रति अपना रवैया बदला है.

उधर गुजरात के मुख्यमंत्री के समर्थन में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सहयोगी पार्टी शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मोदी ने देश के मन की बात जोर से कही है. यह बात कुछ साल पहले तक बाला साहेब ठाकरे भी कहते थे.

कांग्रेस की प्रतिक्रिया

Image caption मोदी और सुषमा दोनो ही पार्टी के अग्रिम पंक्ति के नेता है.

दिल्ली में भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में दिए गए नरेंद्र मोदी के भाषण की सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने कड़ी आलोचना की है.

मनीष तिवारी ने कहा कि गुजरात में हुए साल 2002 के दंगों के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने नरेंद्र मोदी को राजधर्म की याद दिलाई थी.

कैबिनेट मंत्री राजीव शुक्ला ने मोदी के भाषण के लहजे पर सवाल उठाते हुए समाचार चैनल टाइम्स नाउ से कहा,“मुझे लगता है कि एक ऐसे नेता के लिए जो राष्ट्रीय स्तर पर आना चाहता हो, उसे ऐसी भाषा में बात नहीं करनी चाहिए. मोदी की भाषा अहंकार से भरी हुई है. उन्हें वाजपेयी से सीखना चाहिए.”

मोदी की प्रधानमंत्री पद की उम्मीदावारी पर शुक्ला ने कहा,“यह भाजपा का आंतरिक मामला है. हमें किसी से कोई भय नहीं है वे जिसे भी लाएं हम उसका सामना करने के लिए तैयार है.”

प्रधानमंत्री पर मोदी के कटाक्ष का जवाब देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा,“मनमोहन सिंह सिर्फ कांग्रेस पार्टी के प्रधानमंत्री नहीं है बल्कि पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं. उनका नाम इज्ज़त से लेना चाहिए.”

संबंधित समाचार