कौन होगा व्हार्टन में मोदी की जगह मुख्य वक्ता?

Image caption मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए फोरम को संबोधित करने वाले थे. फाइल तस्वीर, एपी

अमरीका में व्हार्टन इंडिया इकॉनोमिक फोरम को नरेंद्र मोदी की जगह संबोधित करने वाले मुख्य वक्ता कौन होंगे इस पर भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

इससे पहले फोरम के 'कीनोट स्पीकर्स' यानी मुख्य वक्ताओं में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का भी नाम था लेकिन उनका भाषण रद्द कर दिया गया.

कुछ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया कि मोदी कि जगह अब आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल फोरम में अहम वक्ता होंगे.

लेकिन केजरीवाल ने इसपर स्थिति साफ करते हुए एजेंसियों को बताया कि वो पहले से मेहमान वक्ताओं की सूची में शामिल थे और वो मुख्य वक्ता नहीं होगे. केजरीवाल के संदर्भ में अभी व्हार्टन की तरफ से कोई बयान नहीं आया है.

इस बीच कुछ मीडिया चैनलों में ये खबर भी चलाई जा रही है कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को मुख्य वक्ता के तौर पर बुलाया गया है लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है.

उधर फोरम के मुख्य प्रायोजक अदानी समूह ने भी इस प्रायोजन से अपने हाथ खींच लिए हैं. अदानी समूह गुजरात के अरबपति उद्योगपति गौतम अदानी का है.

इससे पहले सोमवार को शिवसेना के सुरेश प्रभु ने वक्ता के तौर पर अपना नाम वापस ले लिया था. उन्होंने कहा था कि ऐसा उन्होंने मोदी को हटाए जाने के विरोध के रूप में किया है.

व्हार्टन की वेबसाइट पर अब कीनोट स्पीकर के तहत पांच वक्ताओं के नाम दिखाए जा रहे हैं जिनमें मोंटेक सिंह अहलूवालिया, मिलिंद देवड़ा, अतुल निशार, रौन सौमर्स और दिलीप चेरियन शामिल हैं.

भाषण रद्द

Image caption मोदी की जगह कौन नया वक्ता होगा इसपर भ्रम बना हुआ है.

माना जा रहा है कि क ई वर्गों से पड़े दवाब के बीच नरेंद्र मोदी के अहम भाषण को रद्द किया गया है.

फोरम ने अपने बयान में कहा है, "हम किसी तरह के राजनीतिक विचारों का समर्थन नहीं करते हैं और किसी विशेष विचार धारा की हिमायत भी नहीं करते. हमारा उद्देश्य सिर्फ एक टीम के तौर पर भारत की आर्थिक वृद्धि पर एक सार्थक संवाद को बढ़ावा देना है."

अमरीका के फिलाडेल्फिया राज्य में 22 से 23 मार्च तक होने वाले इस फोरम को मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करने वाले थे.

1996 में शुरू हुए व्हार्टन इंडिया इकॉनमिक फोरम को भारत पर केंद्रित सबसे बड़े और प्रतिष्ठित व्यापारिक सम्मेलनों में से एक माना जाता है जिसमें भारत में मौजूद संभावनाओं और चुनौतियों पर चर्चा होती है.

इस बार इस सम्मेलन में केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री मिलिंद देवड़ा, अदानी समूह के गौतम अदानी, अभिनेत्री शबाना आजमी और शायर और पटकथा लेखक जावेद अख्तर को आमंत्रित किया गया है.

संबंधित समाचार