छेडछ़ाड़ की फेसबुक अपडेट, मनचले जेल पहुंचे

  • 18 मार्च 2013
Image caption यही तस्वीर फेसबुक पर डाली गई थी जिसके बाद इन्हें गिरफ्तार किया गया.(तस्वीर:अक्षय किंगर)

पुलिस स्टेशन में छेड़छाड़ की शिकायत करना अकसर आसान काम नहीं समझा जाता. कई बार पुलिस शिकायत दर्ज करने में आनाकानी करती है. लेकिन बंगलौर में अपने आप का एक अनूठा मामला सामने आया है.

बंगलौर पुलिस ने फेसबुक पर लगाए गए एक फोटो के आधार पर ना सिर्फ शिकायत दर्ज की बल्कि दो दिन के अंदर महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करने वालों को ढूंढ भी निकाला.

दरअसल ये मामला फेसबुक पर कुछ लोगों की त्वरित कार्रवाई से ही आगे बढ़ा. अक्षय किंगर नाम के एक युवक ने शनिवार को दो मनचलों को लड़कियों से छेड़छाड़ करते हुए देखा तो उनकी फोटो खींचकर फेसबुक पर डाल दी.

अक्षय ने बीबीसी से बात करते हुए बताया, ''शनिवार दोपहर को मैं अपनी दो महिला मित्रों के साथ रेहजा रेज़िडेसी के पास के सिग्नल पर खड़ा था. इन दोनों लड़को ने मेरी महिला मित्रों के साथ छेड़खानी की.”

अक्षय ने फोटो के साथ लिखे गए पोस्ट में लोगों से मदद करने की अपील भी की.

अक्षय किंगर ने लिखा, “मैंने उन लोगों उनका फोटो लिया है जिसमें उनकी मोटरसाइकिल का भी नम्बर भी है. मैं उम्मीद करता हूं कि पुलिस उनके खिलाफ़ कारवाई करें, लड़कियां उनके खिलाफ गवाही देने के लिए तैयार हैं.”

उन्होंने उम्मीद जताई कि बंगलौर पुलिस कारवाई करेगी ताकि बंगलौर को फिर से सुरक्षित बनाया जा सके.

अक्षय कहते हैं, ''हमारे शहर में बदलाव लाने के लिए हमें काम करते रहना होगा. मैने इसके लिए फेसबुक पेज बनाया है. आओ रुके, सुधारें और आगे बढ़ें. चलो आज से ही मिलकर काम करें.”

अक्षय किंगर की खींची एक फोटो सोशल मीडिया मुहिम में बदल गया. फेसबुक पर लगाए गए इस पोस्ट को 18555 लोगों ने लाइक किया और 6687 लोगों ने इसे शेयर किया.

ये पोस्ट बंगलौर पुलिस तक भी पहुंचा और पुलिस ने इसपर कारवाई की.

पुलिस कारवाई

पुलिस ने यह फोटो लगने के दो दिन बाद यानी 13 मार्च को अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया कि दोनों मनचलों को पहचान लिया गया है और पूछताछ जारी है.

इस मामले में जांच करने के बाद बंगलौर पुलिस ने अपने फेसबुक पेज़ पर ही बताया कि 15 मार्च को 22 वर्षीय और 21 वर्षीय युवक को पूछताछ और जांच के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है.

बंगलौर पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर पुलिस प्रणव मोहंती ने बीबीसी से इन युवकों की गिरफ्तारी की पुष्टि की.

बंगलौर पुलिस की ओर से फेसबुक पन्ने पर लिखा गया है, “हमें अपनी टीम पर गर्व है कि उन्होंने बखूबी से इस शिकायत पर जल्द कारवाई की. ये दिखाता है कि लोग अगर किसी भी तरीके से हमारी मदद करें तो हम अपराध को कम कर सकते हैं.”

इतना ही नहीं पुलिस ने मोटरसाइकिल के साथ उन गिरफ्तार किए गए मनचलों की तस्वीर भी फेसबुक पर डाली.

पुलिस के इस कदम का भी सोशल मीडिया में काफी स्वागत हुआ और पुलिस की इस जानकारी को 2750 लोगों ने इसे शेयर किया.

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है