चीनी भाषा सीखने का सरल तरीक़ा

Image caption वैज्ञानिकों के अनुसार चीनी भाषा सीखने का आसान तरीका ढूंढ निकाला गया है

चीन में भाषा सीखने-सिखाने की जो मौजूदा शैली है उससे आम चीनी लोग बिल्कुल ऊब चुके हैं. मगर अब उम्मीद की जा रही है कि चीनी भाषा सीखने का सरल तरीक़ा जल्द ही उपलब्ध होगा.

दरअसल अब तक यही माना जाता रहा है कि चीनी भाषा सीखना बहुत कठिन है. चीन के मूल निवासियों को सबसे ज़्यादा शिकायत इस बात की रही कि चीनी भाषा जिन चिह्नों से बनी है वे समझ में नहीं आते.

रट्टा मारो

ऐसे में इसके सिवा कोई और रास्ता नहीं बचता कि चीनी भाषा में सबसे ज़्यादा इस्तेमाल आने वाले लगभग 3,500 चिह्नों (अक्षरों) को हूबहू रट लिया जाए. इसलिए लोग स्कूलों में भी रट्टा मार कर जाते हैं. इतना ही नहीं, चीनी इस बात को भी स्वाकारते हैं कि दैनिक इस्तेमाल में आने वाले कई शब्द उन्हें याद नही रहते हैं. जैसे कि एक सामान्य सा शब्द है 钥匙 (चाबी). अब सवाल है कि क्या इस भाषा को सीखने का कोई बेहतर तरीक़ा नहीं हो सकता? बीजिंग विश्विद्यालय के भौतिकविज्ञानी जिनशान वू नेटवर्क थ्यौरी के गणितीय विज्ञान के विशेषज्ञ हैं. जिनशान और उनके सहयोगियों ने इन सारी मुश्किलों का हल निकालने के लिए चीनी अक्षरों के आपसी संरचनात्मक संबंधों की जांच-पड़ताल की.

सीखने का बेहतर तरीका

उन्होंने ये भी पाया है कि चीनी अक्षर उतने भी क्लिष्ट और चकरा देने वाले नहीं होते जितने कि वे दिखते हैं. सबसे पहली बात कि मूल शब्दों की संख्या बेहद सीमित होती है और ये प्रचलित निशानों या रेखाओं की शक्ल में होते हैं. यही नहीं, इन मूल शब्दों में इनके अर्थ या उच्चारण, या दोनों के सुराग़ छिपे होते है. जैसे कि चीनी भाषा में ‘नहाना’ शब्द को ही लें. इसके दोनों अक्षर एक ही मूल अक्षर से शुरु होते हैं जिसका मतलब ‘पानी’ होता है.

ल्यू शु नियम

फिर दोनों शब्दों का आधा भाग यानि दाहिना सिरा उनके उच्चारण को बताता है. मूल चिह्नों से शब्दों को गढने के लिए एक सामान्य नियम बनाया गया. इस नियम को ल्यू शु, यानि 六书 का नाम दिया गया.

अक्षरों के बीच इस तरह के संरचनात्मक संबंध से भाषा को सीखने में आसानी होती है. जैसेः यदि आप एक बार ये जान लें कि 木 (मु) का मतलब लकड़ी है, तो ये याद रखना कठिन नहीं होगा कि 木木 का मतलब जंगल है. वू और उनके सहयोगी बताते हैं कि बहु-अक्षरों को सीखना आसान है यदि इसके सभी अवयवों को हम पहले सीख चुके हों. जैसे 明 (चमकीला) को सीखना ज्यादा आसान है यदि हमने पहले ही 日 (सूरज, दिन) और 月 (महीना, चांद) सीख लिया है. इस तरह ल्यू शु नियम की मदद से वू और उनके सहयोगियों ने 3,500 चिह्नों के बीच संरचनात्मक संबंधों का नक्शा खींचा. और इसी नक्शे के सहारे 7,000 से भी ज्यादा संबंधों का पता लगाकर शब्दों का एक नेटवर्क बनाया.

यह नेटवर्क एक ट्री (पेड़) की शक्ल में है. इसमें प्रमुख नियम (तना) और आगे कई छोटे छोटे नियम (शाखा) होते है. शोधकर्ता मानते हैं कि चीनी भाषा के सीखने की शुरुआत हमें इस ट्री के सबसे निचले सिरे से करनी चाहिए. और फिर धीरे धीरे ऊपर की ओर बढ़ना चाहिए.

संबंधित समाचार