यूपीए 'धोखेबाज़' पर समर्थन फिलहाल रहेगा

Image caption मुलायम सिंह ने कहा कि कांग्रेस सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने साफ किया है कि वो फिलहाल यूपीए सरकार से अपना समर्थन वापस नहीं लेंगें क्योंकि वो ‘सांप्रदायिक पार्टियों’ के साथ हाथ नहीं मिलाना चाहते.

अंग्रेज़ी न्यूज़ चैनल सीएनएनआईबीएन को दिए एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि हालांकि वो समर्थन वापस नहीं लेंगें लेकिन कांग्रेस को इसी साल चुनाव लड़ना पड़ सकता है.

उन्होंने कहा, “हम नहीं चाहते कि भारतीय जनता पार्टी और उनकी सहयोगी पार्टियां सरकार गिराएं. आठ-नौ महीने की बची सरकार को हम क्यों गिराना चाहेंगें?”

कांग्रेस पार्टी को ‘धोखेबाज़’ बताते हुए उन्होंने कहा, “अपनी ही सहयोगी पार्टी के एक मंत्री को वो जेल भिजवा देते हैं. इसीलिए मैं कांग्रेस को धोखेबाज़ बुलाता हूं.”

कौन बनेगा प्रधानमंत्री?

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपनी सरकार केंद्रीय जाँच ब्यूरो और आयकर विभाग को अपने कब्ज़े में करके चला रही है.

मुलायम सिंह का ये बयान ऐसे समय में आया है जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अनुसार 'इस संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता' है कि समाजवादी पार्टी कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार से समर्थन वापस ले सकती हैं.

हालांकि प्रधानमंत्री ने यक़ीन जताया कि उनकी सरकार को किसी तरह का ख़तरा नहीं है और वो अपना कार्यकाल पूरा करेगी.

मुलायम सिंह का कहना था है कि कांग्रेस से समर्थन वापस लेने पर फैसला चुनावों के बाद ही किया जाएगा.

केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा पर प्रहार करते हुए मुलायम सिंह ने कहा, “बेनी प्रसाद वर्मा एक छोटे आदमी हैं और कांग्रेस के लिए समस्या खड़ी करने के पीछे उन्हीं का हाथ होता है.”

हालांकि उन्होंने यूपीए सरकार से समर्थन वापस लेने से इंकार कर दिया, उन्होंने कहा कि 2014 चुनाव में प्रधानमंत्री कांग्रेस या भाजपा से नहीं बल्कि तीसरे मोर्चे का कोई उम्मीदवार होगा.

संबंधित समाचार