उत्तर प्रदेश में चार बहनों पर तेज़ाब से हमला

Image caption बढ़ रही हैं तेजाब हमले की घटनाएं

उत्तर प्रदेश के शामली ज़िले में कालेज से घर वापस जा रही चार महिलाओं पर तेज़ाब से हमला किया गया जिसमें वो बुरी तरह से जल गई हैं, जबकि एक की हालत गंभीर बताई जा रही है और उसे इलाज के लिए दिल्ली ले जाया गया है.

एक और महिला का इलाज स्थानीय अस्पताल में जारी है जबकि दो को मामूली चोटें आईं हैं.

बीबीसी संवाददाता रामदत्त त्रिपाठी के मुताबिक़ यह चारों बहने हैं और कालेज में होने वाले इम्तिहान में परीक्षा ड्यूटी के बाद मंगलवार शाम घर वापस जा रही थीं.

समाचार एजेंसी एएफपी ने पुलिस अधिकारी अब्दुल हमीद के हवाले से कहा है कि जिले के कंधाला कस्बे में मोटरसाइकिल सवार दोनों युवकों ने पहले तो महिलाओं पर अभद्द टिपण्णियां कसीं और बाद में उनमें से पीछे बैठे हुए व्यक्ति ने महिलाओं पर तेज़ाब फेंक दिया.

चारों बहने पेशे से शिक्षक हैं.

सज़ा

लड़कियों का तालुक्क़ अल्पसंख्यक समुदाय से है.

अभी तक इस इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, न ही हमले का कारण पता चल सका है.

हाल में महिलाओं पर बार-बार तेज़ाब से हो रहे हमलों के बाद ये सुझाव दिया गया था कि इसके लिए उम्र क़ैद की सज़ा दी जानी चाहिए.

लेकिन हाल में ही बने महिला अत्याचार विरोधी क़ानून में इस तरह के हमलों में ज़मानत मिल सकती है.

साथ ही हमलावर को आठ से 12 साल तक की कैद हो सकती है.

संबंधित समाचार