बंगलौर में बीजेपी कार्यालय के पास धमाका

  • 17 अप्रैल 2013
Image caption हमला बीजेपी दफ़्तर के पास किया गया

बंगलौर पुलिस के मुताबिक शहर में बुधवार सुबह भारतीय जनता पार्टी कार्यालय के करीब हुए एक विस्फोट में आठ पुलिसकर्मियों सहित कम से कम 16 लोग घायल हो गए.

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) की टीम मौक़े पर पहुंच चुकी है और घटनास्थल से सबूत इकट्ठा कर रही है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह ने मीडिया से बताया है, "एनआईए की टीम घटनास्थल पर पहुंच चुकी है, हम राज्य सरकार से लगातार संपर्क में हैं और हर संभव मदद के लिए तैयार हैं."

चरमपंथी हमला

हालांकि अभी तक के जांच में ये पता नहीं चला है कि विस्फोटक में किन पदार्थं का इस्तेमाल किया गया है. लेकिन जांच करने वाले अधिकारियों का दल इसके हर पहलू की जांच कर रहा है. हालांकि इसे एक चरमपंथी हमले के तौर पर देखा जा रहा है.

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक अभी इस चरमपंथी हमले के लिए किसी चरमपंथी संगठन को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है.

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह ने जांच पूरी होने तक देश की जनता से संयम बरतने की अपील की है. उन्होंने कहा, "हम लोग हर किसी से शांति और संयम बरतने की अपील कर रहे हैं इसके लिए जरूरी है कि किसी तरह के अफवाह पर आप लोग ध्यान नहीं दें."

पुलिस को संदेह है कि विस्फोटक को एक मोटरसाइकिल पर रखा गया था. घायलों को निकट के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां दो की हालत गंभीर बताई जा रही है.

बीजेपी ऑफिस के पास धमाका

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक बंगलौर के पुलिस आयुक्त राघवेन्द्र औरादकर ने बताया कि विस्फोट सुबह लगभग साढ़े दस बजे मल्लेश्वरम इलाक़े में हुआ. उन्होंने कहा, “अभी मैं इतना ही कह सकता हूं कि ये एक विस्फोट था.”

शुरूआत में माना जा रहा था कि विस्फोट सिलेंडर के कारण हुआ लेकिन पुलिस का कहना है कि ये धमाका बम या विस्फोटक से हुआ था. पुलिस ने पूरे इलाक़े की घेराबंदी कर दी है.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विस्फोट के कारण आसपास के कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. साथ ही पास की कई इमारतों के शीशे भी चटक गए.

कर्नाटक में पांच मई को विधानसभा चुनाव होने हैं और बुधवार को नामांकन दाखिल करने का आखिरी दिन था. यही वजह थी कि भाजपा ऑफिस में काफी भीड़ थी. राज्य में पाँच मई को विधानसभा चुनाव होने हैं.

संबंधित समाचार