मंत्री पर अफ़सर को थप्पड़ जड़ने का आरोप

कश्मीर
Image caption है इस मामले में पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली.

जम्मू-कश्मीर के गृह मंत्री सज्जाद किचलू पर एक सरकारी अफ़सर रियाज़ अहमद चौधरी को थप्पड़ मारने के आरोप लगे हैं.

रियाज़ अहमद चौधरी किश्तवाड़ विकास प्राधिकरण के प्रमुख हैं.

इस मामले में पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है.

बीबीसी से बात करते हुए रियाज़ ने बताया कि मंत्री सज्जाद किचलू इस बात से नाराज़ थे कि जब मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला एक सम्मेलन की अध्यक्षता करने पहुँचे तो उन्हें वहाँ पहुँचने में देरी हो गई.

रियाज़ ने कहा, “उन्होंने मुझसे कहा कि तुम अपने आपको क्या समझते हो? उन्होंने मुझे एक के बाद एक दो थप्पड़ मारे. जब वो तीसरी बार थप्पड़ मारने जा रहे थे तो मैंने उन्हें रोका. तभी उन्होंने मुझे गिरफ्तार करने के आदेश दे दिए. उसके बाद उनके 15-20 लोगों ने मुझे मारना-पीटना शुरू कर दिया.”

घटना के बारे में सज्जाद किचलू का पक्ष नहीं मिल पाया है. उनका मोबाइल फ़ोन बंद था.

दुखी

57-वर्षीय रियाज़ ने किचलू पर आरोप लगाया कि उन्होंने थप्पड़ मारने के लिए पहले ही दिमाग बना रखा था.

फ़ोन पर बात कर रहे रियाज़ की आवाज़ से लगा कि वो बेहद दुखी थे.

अपने 32 साल की नौकरी का हवाला देते हुए रियाज़ ने कहा कि उन्होंने कभी भी किसी को शिकायत का मौका नहीं दिया.

रियाज़ कहते हैं, “आज तक कभी हमने किसी को ऐसा मौका नहीं दिया कि कोई ऊँची आवाज़ में भी हमसे बात करे.”

रियाज़ ने बताया कि हालाँकि उन्होंने इस मामले की शिकायत दर्ज कर ली है, उन्हें बहुत उम्मीद नहीं है कि पुलिस इस पर एफ़आईआर दर्ज करेगी.

उन्होंने कहा, “इस घटना पर सज्जाद किचलू को कम से कम लिखित में माफ़ी मांगनी चाहिए. ये थप्पड़ सिर्फ़ मुझ पर नहीं, बल्कि पूरी अफ़सर बिरादरी पर पड़ा है.”

रियाज़ के मुताबिक उन्हें मीडिया के अलावा हर तरफ़ से समर्थन मिल रहा है.

संबंधित समाचार