कितनी वाजिब मुकेश अंबानी को ज़ेड श्रेणी सुरक्षा?

Image caption मुकेश अंबानी ने धमकी भरे पत्र मिलने की शिकायत की थी

रिलायंस समूह के मालिक और उद्योगपति मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति हैं. अब भारत सरकार ने उन्हें ज़ेड श्रेणी की सुरक्षा देने का फ़ैसला किया है.

लेकिन सोशल मीडिया पर इस फैसले को लेकर मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली है. पढ़िए ट्विटर और फेसबुक पर लोग इस बारे में क्या कुछ कह रहे हैं.

मुकेश अंबानी को ज़ेड श्रेणी की सुरक्षा

अरविंद केजरीवाल ‏@ArvindKejriwal

मुकेश अंबानी को ज़ेड सिक्यूरिटी? इतना अमीर आदमी अपने सिक्यूरिटी गार्ड नहीं रख सकता? मीडिया में इतनी हिम्मत नहीं कि इस फैसले पर सवाल उठा सके?

अशोक पंडित @ashokepandit ( फिल्मकार)

देश आतंकवाद से जूझ रहा है, कई जगह धमाके हो रहे हैं. लेकिन सुशील शिंदे मुकेश अंबानी को सुरक्षा प्रदान कराने में व्यस्त हैं. दुख की बात है. क्या टाटा, बिरला, किरलोस्कर, गोदरेज को कभी ये समस्या नहीं हुई?

कैसा है मुकेश अंबानी का घर

शैलेश गांधी ‏@shaileshgan ( आरटीआई कार्यकर्ता)

विदर्भ के गरीब भूखे किसान- मुकुल अंबेडकर देश के सबसे अमीर व्यक्ति की सुरक्षा के लिए पैसे देंगे.

सुचेता दलाल ‏@suchetadalal (वरिष्ठ पत्रकार)

मुकेश अंबानी को ज़ेड श्रेणी की सुरक्षा देने के बाद एंटिलिया में पुलिस स्टेशन का होना न्याय उचित हो जाएगा. बेहतरीन !

रमेश श्रीवत्स @rameshsrivats

मुकेश अंबानी को ज़ेड श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी. आर्थिक रूप से संपन्न परिवारों को सब्सिडी पर एलपीजी मिलती है. ये सही है या ग़लत ?

बीबीसी हिंदी के फेसबुक पन्ने पर भी इस बारे में लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

पढ़िए फेसबुक पर आईं प्रतिक्रियाएँ

Image caption मुकेश अंबानी का घर एंटिलिया

मुजाहिद क़ादरी- किसी मंत्री को ज़ेड प्लस सुरक्षा देने से अच्छा है कि किसी उद्योगपति को दी जाए ( पूरी तरह से सहमत हूँ) !!!

अब्दुल ख़ान- इतना कमा रहे हैं, ख़ुद बॉडीगार्ड रखें. ये सुरक्षाकर्मी महिलाओं की सुरक्षा के लिए इस्तेमाल होनी चाहिए.

ज़ाहिर अहमद- इनको सुरक्षा देनी चाहिए

कमलेश गोस्वामी- ख़ुद के सुरक्षागार्ड रख सकते हैं

मनीष पांडे- मुकेश अंबानी देश के प्रमुख उद्योगपति हैं. ये सरकार का फ़र्ज़ है कि वो न सिर्फ उनको बल्कि सभी नागरिकों को सुरक्षा मुहैया करवाए. साथ ही ये भी पता लगाए कि किसने अंबानी को इस तरह धमकी दी है.

मंडोली पकंज- ये देश की आर्थिक व्यवस्था से जुड़ा मामला है. इसलिए इनको सुरक्षा देनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी से सोशल मीडिया पर जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने को लाइक करें और ट्विटर पन्ने पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार