राजस्थान: घूंघट हटाया तो मिली मौत

  • 23 अप्रैल 2013
राजस्थान में महिलाएं घूंघट निकालती हैं
Image caption राजस्थान में महिलाएं लंबा घूँघट निकालती हैं.

भारत में औरतें शायद सदियों से ये गाना सुनते आईं हैं, 'घूँघट के पट खोल तोहे पिया मिलेंगे.'

लेकिन राजस्थान के भीलवाड़ा ज़िले में एक विवाहिता केली ने घूँघट हटाया तो उनके पिया ने ही कथित तौर पर उनकी जान ले ली.

पुलिस के अनुसार केली के पति सोनू अहिर को पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया है.

ये घटना शनिवार को भीलवाड़ा के पथिक नगर में उस समय हुई जब सोनू अहिर शाम में काम से लौटा और पत्नी को बिना घूँघट से सर ढँके घर से बाहर जाते देखा.

पुलिस के मुताबिक़ इस बात को लेकर पति-पत्नी में विवाद हुआ और नाराज़ पति ने परंपरा का हवाला देते हुए पत्नी की पिटाई शुरू कर दी.

परंपरा का हवाला

पुलिस ने अनुसार पहले तो पति ने हाथ पैर से पत्नी की पिटाई की फिर बाद में उन्होंने फावड़े से पत्नी पर इतने प्रहार किए कि वो गिर कर निढाल हो गई और थोड़ी देर में ही उनकी मौत हो गई.

पुलिस को पहले तो ये बताया गया कि एक विवाहिता ने खुदकुशी कर ली है. लेकिन बाद में हत्या की ख़बर का पता चलते ही पति सोनू को गिरफ़्तार कर लिया गया.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि अपनी पत्नी की मौत के बाद सोनू ने गांव में रह रहे अपने भतीजे को ख़बर दी और किसी के साथ घटना स्थल पर पहुंचने के लिए कहा.

पुलिस के मुताबिक़ सोनू अपने भतीजे के साथ अपनी पत्नी का शव लेकर गांव पहुंचा. इसी दौरान पुलिस को ख़बर मिली कि ये ख़ुदकुशी का नहीं बल्कि हत्या का मामला है.

पुलिस मौक़े पर पहुंचकर पुलिस ने केली की लाश को अपने क़ब्ज़े में ले लिया और सोनू को गिरफ़्तार कर लिया.

भीलवाड़ा ज़िले के सुभाष नगर पुलिस स्टेशन में तैनात सब इंस्पेक्टर फूल चंद ने बीबीसी से इस बारे में बातचीत के दौरान कहा, ''सोनू अहिर को हत्या के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया है. उसने गुनाह क़ुबूल कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है.''

पुलिस के मुताबिक़ सोनू बतौर ट्रैक्टर ड्राइवर काम करता था और भीलवाड़ा में किराए के मकान में रहता था.

संबंधित समाचार