बंसल को हटाने पर भिड़ीं बीजेपी और कांग्रेस

सीबीआई
Image caption सीबीआई को मुबंई में गिरफ्तार किए गए रेलवे बोर्ड के सदस्य को दिल्ली ले जाने की इजाजत मिल गई है.

रेलवे बोर्ड में तरक्की के लिए रिश्वत के मामले में रेल मंत्री के भांजे की गिरफ्तारी के बाद प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने इस प्रकरण में पवन बंसल के कथित तौर पर शामिल होने को लेकर शनिवार को उनकी बर्खास्तगी की मांग की है.

भाजपा ने आरोप लगाया है कि भारत सरकार दलालों और बिचौलियों के लिए काम कर रही है.

वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस प्रकरण से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की उनकी पार्टी की मांग को और 'बल' मिला है.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "कांग्रेस ने सरकार को बाजार बना दिया है जहां हर फैसले की कीमत लगाई जा सकती है. यह चिंताजनक स्थिति है."

बंसल का स्पष्टीकरण

हालांकि रंल मंत्री पवन बंसल ने कहा है कि उनका अपने भांजे से किसी तरह का कोई कारोबारी संबंध नहीं है और उन्होंने किसी तरह की गलती करने से भी इनकार किया है.

इस पर भाजपा का कहना है कि रेल मंत्री इस मामले से खुद को अलग नहीं कर सकते.

हालांकि इस कथित रिश्वत कांड को लेकर सत्तारूढ़ कांग्रेस में अनिर्णय की स्थिति बनी हुई है.

पार्टी प्रवक्ता राशिद अल्वी ने बंसल के इस्तीफे की मांग पर कहा, "कानून अपना काम करेगा. सीबीआई एक स्वतंत्र संस्था है और मामले की जांच कर रही है. जो कोई भी इस के लिए जिम्मेदार होगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी."

बंसल के इस्तीफे की मांग को खारिज करते हुए कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने कहा, "जो लोग इस्तीफे की मांग कर रहे हैं, यह उनके लिए बीमारी की तरह हो गई है."

ट्रांजिट रिमांड

Image caption रेल मंत्री के इस्तीफे का मुद्दा जोर पकड़ रहा है.

उन्होंने कहा, "रेल मंत्री ने खुद ही मामले का स्पष्टीकरण दिया है और कहा है कि इस वाक़ये की पूरी जांच होनी चाहिए. मुझे नहीं लगता कि हमें उनसे इससे ज्यादा की उम्मीद करनी चाहिए.

इस बीच समाचार एजेंसी पीटीआई ने खबर दी है कि रेल मंत्री ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से शनिवार को मुलाकात की.

खबरों के मुताबिक यह बैठक 20 मिनट तक चली.

उधर मुंबई में एक विशेष अदालत ने गिरफ्तार किए गए रेलवे बोर्ड के सदस्य महेश कुमार को दिल्ली ले जाने के लिए सीबीआई को ट्रांजिट रिमांड दे दिया है.

मामला

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो ने रेलवे के एक अधिकारी की पदोन्नति के लिए 90 लाख रूपए का रिश्वत लेने के मामले में केंद्रीय रेल मंत्री पवन कुमार बंसल के भांजे को शुक्रवार को गिरफ़्तार किया था.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ विजय सिंगला को चंढ़ीगढ़ में गिरफ्तार किया गया.

शुक्रवार को ही रेलवे के उस अधिकारी को भी गिरफ्तार किया गया जिन्होंने कथित तौर पर प्रमोशन के लिए मंत्री के भांजे को पैसे दिए थे.

इस सिलसिले में दूसरी गिरफ्तारी मुंबई में हुई.

सीबीआई ने विजय सिंगला के खिलाफ़ भ्रष्टाचार निरोधक का़नून और दूसरी धाराओं में केस दर्ज किया है.

केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस सिलसिले में दिल्ली, मुंबई और बैंगलोर में भी छापे मारे थे.

संबंधित समाचार