कर्नाटक: 60% से ज़्यादा वोटिंग से किसे होगा फ़ायदा?

कर्नाटक चुनाव
Image caption गर्म मौसम का असर भी चुनावी भीड़ पर पड़ा है

कोलार में हल्की-फुल्की झड़प और बेंगलुरु में कहीं-कहीं पर धक्का-मुक्की और तलवारबाजी की घटनाओं को छोड़कर कर्नाटक में विधानसभा की 223 सीटों के लिए मतदान शांतिपूर्ण खत्म हो गए. चुनाव आयोग के मुताबिक करीब 65 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

अब इस बात पर कयास लगाए जा रहे हैं कि इस ठीक-ठाक मतदान से किसे फा़यदा होगा.

पिछले पाँच वर्षों के दौरान जहाँ भाजपा की सरकार में भ्रष्टाचार मुख्य मुद्दा रहा, अब सभी की निगाहें चुनाव नतीजों पर होंगी कि क्या केंद्र में भ्रष्टाचारों का सामना कर रही कांग्रेस कर्नाटक में भाजपा की परेशानियों का फ़ायदा उठा पाती है या नहीं.

चिलचिलाती धूप और उमस की वजह से दोपहर तक मतदान केन्द्रों में सन्नाटा रहा.

छुट्टी होने की वजह से शहरी इलाकों में लोग सुबह-सुबह घरों से नहीं निकले जबकि सभी बड़े नेता वोट डालने अपने अपने मतदान केंद्र पहुँच गए. वहीं आयकर विभाग के लोगों नें एक ज्योतिष के घर छापा मार कर लगभग दो करोड़ रूपए जब्त किए.

ये छापामारी चुनाव आयोग के निर्देश पर हुई. हालाँकि पुलिस का कहना है कि अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि क्या इस पैसे का चुनाव से कुछ लेना-देना है.

इससे पहले भी चुनावी प्रचार के दौरान पुलिस ने 17 करोड़ से भी ज्यादा की रक़म जब्त की है.

शिकायत

Image caption शहरी इलाकों से ज्यादा ग्रामीण इलाकों के लोग मतदान करने के लिए निकल रहे हैं

बेंगलुरु के जेसी नगर के इलाके में कई लोगों को शिकायत थी कि वोटर आईडी कार्ड होने के बावजूद उनके नाम मतदाता सूची से ग़ायब हैं. ये लोग अपने कार्ड लेकर मतदान केंद्र पहुंचे मगर उन्हें मत डालने की इजाज़त नहीं दी गयी.

वहीं आरटी नगर के इलाके में एक मतदान केंद्र के बाहर जमा लोगों नें कहा कि वो अब बदलाव के लिए मत डाल रहे हैं. यहाँ जमा लोगों को भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा तो लगता ही है, साथ ही वो मानते हैं कि राजनीतिक दलों नें बेंगलुरु शहर के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया है.

ग्रामीण इलाकों में ज्यादा उत्साह देखा गया. बेंगलुरु से 22 किलोमीटर दूर मानडूर इलाके में दो दलों के कार्यकर्ताओं के बीच हलकी झड़प भी हुई. ये वो जगह है जहाँ बेंगलुरु महानगर का कूड़ा फेंका जाता है. लोग इस इलाके में कूड़ा फेंके जाने का विरोध कर रहे हैं.

अपने विधान सभा क्षेत्र शिमोगा में मत डाल कर बाहर निकले पूर्व मुख्यमंत्री बी येदियुरप्पा नें दावा किया है कि उनका दल पूर्ण बहुमत लाने की स्थिति में है. ऐसे ही दावे भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस नें भी किये हैं.

बेंगलुरु के एक मतदान केंद्र में भाजपा नेता वेंकैया नायडू जब अपना मत डालने पहुंचे तो एक बुज़ुर्ग नें उन्हें लाइन में आने को कहा. नायडू लाइन में लगे और फिर उन्होंने अपना मत डाला.

संबंधित समाचार