स्पॉट-फ़िक्सिंग: तीनो क्रिकेटर होंगे अदालत में पेश

  • 21 मई 2013
आईपीएल
Image caption रिपोर्टों के अनुसार दिल्ली पुलिस अदालत से इन तीनों की पुलिस हिरासत बढ़ाने की मांग करेगी

राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाड़ियों, एस श्रीसंत, अजीत चंदीला और अंकीत चव्हाण, को मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत में पेश किया जाएगा.

आईपीएल के छठें संस्करण में स्पॉट फ़िक्सिंग करने के आरोप में इन तीनों को दिल्ली पुलिस ने गुरूवार को 11 कथित सटोरियों के साथ गिरफ़्तार किया था.

पाँच दिनों से तीनो खिलाड़ी दिल्ली पुलिस की हिरासत में हैं.

तीन खिलाड़ियों के परिवारवालों ने सभी आरोपों से इंकार किया है.

रिपोर्टों के अनुसार दिल्ली पुलिस अदालत से इन सभी की पुलिस हिरासत बढ़ाने की मांग करेगी.

राजस्थान रॉयल्स और बीसीसीआई इनके करार पहले ही रद्द कर चुकी है.

आईपीएल फ्रेंचाइज़ राजस्थान रॉयल्स ने सोमवार को एक वक्तव्य में कहा था, “प्रशासन द्वारा हमें जो जानकारी मुहैया करवाई गई है, उस आधार पर जाँच पूरी होने तक तीन खिलाड़ियों के करार को रद्द कर दिया गया है.”

रॉयल्स ने कहा कि इन तीनों खिलाड़ियों के खिलाफ़ दिल्ली पुलिस के पास उसने शिकायत दर्ज करवा दी है.

रॉयल्स के अनुसार बीसीसीआई के साथ चर्चा के बाद टीम के चारों ओर सुरक्षा का दायरा बढ़ा दिया गया और वो दिल्ली, मुंबई और जयपुर में पुलिस अधिकारियों के संपर्क में हैं.

फ़िक्सिंग का तरीका

दिल्ली पुलिस का कहना है कि बुधवार को मुंबई में हुए राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस, पांच मई को जयपुर में हुए राजस्थान रॉयल्स और पुणे वॉरियर्स, और नौ मई को मोहाली में हुए राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैचों में स्पॉट फिक्सिंग हुई थी.

उनके मुताबिक सटोरियों और खिलाड़ियों के बीच हर ओवर में कितने रन देने हैं इस पर सहमति बनाई जाती थी और ये तय होता था कि उन्हें एक ओवर में कम से कम इतने रन देने हैं.

पुलिस के मुताबिक खिलाड़ियों यानी गेंदबाजों को संकेत देना होता था कि वो रन देने के लिए तैयार है. ये संकेत थे: पैंट में तौलिया घुसाना, लॉकेट शर्ट से बाहर निकालना, शर्ट उतारना, वग़ैरह.

इसी दौरान मुंबई पुलिस ने भी श्रीसंत के होटल पर छापा मारकर उनके लैपटॉप, आईपैड सहित दूसरे सामान को कब्ज़े में लिया था.

दिल्ली पुलिस के अनुसार वो अप्रैल से ही खिलाड़ियों के मोबाइल फोन को मॉनीटर कर रही थी और इस मामले के तार अंडरवर्ल्ड से जुड़े हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार