चेन्नई सुपर किंग्स ने मेयप्पन से पल्ला झाड़ा

श्रीनिवासन
Image caption बीसीसीआई प्रमुख के दामाद को पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया है.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के प्रमुख एन श्रीनिवासन स्पॉट फिक्सिंग मामले में पुलिस के दायरे में आए अपने दामाद गुरूनाथ मेयप्पन से दूरी बनाने का प्रयास करते दिख रहे हैं.

एन श्रीनिवासन की कंपनी इंडिया सीमेंट्स की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया है कि आईपीएल टीम चेंन्नई सुपर किंग्स में गुरूनाथ मेयप्पन की भूमिका बहुत सीमित है.

ये बयान ठीक वैसे वक्त आया है जब पूर्व बीसीसीआई चेयरमैन की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने मांग की है कि एन श्रीनिवासन को अपने पद से तत्काल इस्तीफ़ा दे दना चाहिए.

एनसीपी के प्रवक्ता डीपी त्रिपाठी ने कहा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मुखिया एन श्रीनिवासन को फौरन इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

एनसीपी के प्रमुख शरद पवार बीसीसीआई के अध्यक्ष रह चुके हैं. उनकी पार्टी केंद्र में सत्ता में मौजूद संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का हिस्सा है.

दूरी

इस बीच एन श्रीनिवासन की कंपनी इंडिया सीमेंट्स ने एक बयान जारी कर कहा है कि गुरूनाथ मेयप्पन न तो चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक हैं, न ही कार्यकारी अधिकारी/न ही वो टीम के किसी अहम पद पर हैं.

कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष टीएस रघुपति की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया है कि गुरूनाथ मेयप्पन टीम के प्रबंधन के एक सदस्य (अवैतनिक) हैं.

कहा गया है कि इंडिया सीमेंट्स में भ्रष्टाचार के मामले पर किसी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं करता है और अगर कोई भी इस मामले में दोषी पाया जाता है तो उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी.

कहा गया है कि कंपनी बीसीसीआई और दूसरे संगठनों से पूरी तरह सहयोग करेगा.

अलग रूख़

श्रीनिवासन के त्यागपत्र पर शरद पवार के दल का रूख़ इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला से अलग है जिन्होंने कहा है कि एन श्रीनिवासन फिलहाल पद से इस्तीफ़ा नहीं देंगे.

दिल्ली में मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए राजीव शुक्ला ने कहा कि जहाँ तक बीसीसीआई का सवाल है तो फिलहाल इस मामले में रवि सवानी समिति की जांच जारी है और वो लगातार पुलिस से संपर्क में हैं.

उन्होंने कहा कि समिति की रिपोर्ट सौंप दिए जाने के बाद अनुशासन समिति इस मामले पर फ़ैसला करेगी.

परिवार के ख़िलाफ़ जांच

राजीव शुक्ला ने शुक्रवार को केंद्रीय क़ानून मंत्री कपिल सिब्बल और राज्य सभा में विपक्ष के नेता और बीसीसीआई की अनुशासन समिति के प्रमुख अरूण जेटली से मुलाक़ात की है.

आईपीएल चेयरमैन से सवाल किया गया था कि जब एन श्रीनिवासन के एक परिजन के ख़िलाफ़ ही जाँच हो रही तो ऐसे समय में क्या उन्हें जाँच जारी रहने तक पद से अलग नहीं हो जाना चाहिए?

बीसीसीआई के चेयरमैन एन श्रीनिवासन के दामाद गुरूनाथ मेयप्पन को मुंबई पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया है.

Image caption आईपीएल में स्पॉट फ़िक्सिंग मामले में श्रीसंत के अलावा दो और खिलाड़ियों के नाम आए हैं

राजीव शुक्ला से जब ये पूछा गया कि इस मामले में क्या वो विशेष पुलिस जांच की सिफारिश करेंगे?

आईपीएल के चेयरमैन का कहना था कि उस पर मुंबई पुलिस की रिपोर्ट आने के बाद ही फ़ैसला लिया जाएगा.

राजीव शुक्ला ने शुक्रवार को क़ानून मंत्री कपिल सिब्बल से मुलाक़ात की. राजीव शुक्ला मनमोहन सिंह सरकार में संसदीय कार्य मंत्री भी हैं. उन्होंने कहा कि फिक्सिंग पर मुल्क में कड़ा से कड़ा क़ानून बनाया जाना चाहिए.

बढ़ता दायरा

आईपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाड़ियों की गिरफ़्तारी के बाद स्पॉट फ़िक्सिंग का मामला गरमाता जा रहा है. तीन खिलाड़ियों में भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके श्रीसंत भी शामिल हैं.

इस समय श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंदीला दिल्ली पुलिस की हिरासत में हैं. हालाँकि इन खिलाड़ियों के परिजनों का कहना है कि ये आरोप ग़लत हैं.

श्रीसंत ने अपने वकील के माध्यम से जारी एक बयान में कहा है कि वे निर्दोष हैं और जाँच के बाद बेदाग़ निकलकर वापस आएँगे.

अभी एक दिन पहले ही आईसीसी ने भी पाकिस्तान के अंपायर असद रऊफ़ के ख़िलाफ़ जाँच की रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्हें जून में होने वाली चैम्पियंस ट्रॉफ़ी क्रिकेट प्रतियोगिता से हटा लिया है.

दिल्ली पुलिस के अलावा मुंबई पुलिस भी इस मामले की जाँच कर रही हैं. इनके साथ-साथ चेन्नई और कोलकाता पुलिस ने भी कई सट्टेबाज़ों को गिरफ़्तार किया है.

संबंधित समाचार