बिहार में शिक्षक को 'ज़िंदा जलाया गया'

  • 28 मई 2013
Image caption पुर्णिया के उफरैल मध्य विद्यालय में शिक्षक रंजीत कुमार अधजली स्थिति में पाए गए

बिहार के पुर्णिया ज़िले में एक स्थानीय स्कूल के शिक्षक की कथित रूप से जला कर हत्या कर दी गई है.

ये घटना पुर्णिया ज़िले में रामनगर मोहल्ले के उफरैल मध्य विद्यालय के ही परिसर में हुई, जहां शिक्षक रंजीत कुमार को सोमवार सुबह अधजली अवस्था में पाया गया.

मरंगा (पुर्णिया) के पुलिस थाना प्रभारी सुधांशु कुमार ने बताया, “शिक्षक रंजीत कुमार ने मरने से पहले पुलिस के सामने बयान दिया कि उनके स्कूल के हेडमास्टर संजय सिंह ने उन्हें अकसर जातीय द्वेष के आधार पर प्रताड़ित किया. उन्होंने आरोप लगाया कि हेडमास्टर ने उन्हें स्कूल के एक कमरे में बंद कर रखा और फिर उनके शरीर में आग लगा दी.”

लेकिन हेडमास्टर ने इन आरोपों से इनकार करते हुए पत्रकारों को फोन पर बताया कि वे पिछले तीन दिनों से ज़िले से बाहर थे.

34 वर्षीय रंजीत कुमार दलित वर्ग की रजक जाति से जुड़े थे और उनकी पत्नी गर्भवती हैं.

हत्या या आत्महत्या?

Image caption शिक्षक रंजीत कुमार की पत्नी ने स्कूल के प्रशासन पर आरोप लगाया है

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मामले को जानबूझ कर जातीय रंग दिया जा रहा है जबकि मामला आपसी दुश्मनी का लगता है.

गांव में एक ओर चर्चा ये है कि रंजीत ने आत्मदाह के प्रयासे के तहत खुद को आग लगा ली, जबकि दूसरी ओर ये भी चर्चा है कि हेडमास्टर और शिक्षक रंजीत के बीच लंबे समय से मनमुटाव था, जिसका स्कूल को दी जाने वाली राशि में कथित घपले से संबंध था.

पुलिस अधिकारी सुधांशु कुमार ने कहा, “पहली नज़र में लगता है कि ये प्रताड़ना का ही मामला है और हो सकता है कि तंग आकर स्कूल शिक्षक ने आत्मदाह की कोशिश की हो.”

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया कि हेडमास्टर की तलाश जारी है और अभी तक इस सिलसिले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

गांव वालों को शिक्षक रंजीत कुमार अधजली स्थिति में स्कूल के एक कमरे में मिले.

रंजीत को पहले पुर्णिया सदर अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन हालत बिगड़ने के बाद उन्हें कटिहार मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में ले जाया गया.

लेकिन देर शाम उनकी मौत हो गई. डॉक्टरों का कहना है कि उनका शरीर 80 प्रतिशत जल चुका था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार