राजस्थान रॉयल्स ने किनारा किया कुंद्रा से

  • 7 जून 2013
Image caption फिक्सिंग मामले में फंसे राज कुंद्रा पर अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है.

संकट में घिरी आईपीएल फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स ने खुद को अपने विवादित शेयर होल्डर राज कुंद्रा से पूरी तरह अलग कर लिया है.

गुरुवार को दिल्ली पुलिसआयुक्त नीरज कुमार ने दावा किया था कि राज कुंद्रा ने मैचों पर सट्टा लगाने की बात स्वीकार की है. फिलहाल राज कुंद्रा मुंबई में है.

गौर करने लायक बात यह है कि आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस ने बुधवार को राज कुंद्रा से पूछताछ के बाद उनका पॉसपोर्ट जब्त कर लिया था. राज कुंद्रा खुद को लगातार बेगुनाह बताते रहे हैं.

पढ़िएः राज कुंद्रा का एक पहलू ये भी...

शुक्रवार को जारी एक बयान में राजस्थान रॉयल्स की ओर से कहा गया है , "राज कुंद्रा एक अल्पमत शेयरधारक (11.7 प्रतिशत) हैं और टीम की कार्यप्रणाली में उनकी कोई भूमिका नहीं है. हमें विश्वास है कि राज कुंद्रा कानून का पालन करते हैं और उन्होंने कोई कानून नहीं तोड़ा है. यदि वह गुनाहगार साबित होते हैं या उन्होंने नियमों का उल्लंघन किया है तो उन्हें फ्रेंचाइजी से निलंबित कर दिया जाएगा और उनके शेयर जब्त कर लिए जाएंगे."

शुक्रवार को ही मीडिया में राज कुंद्रा की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया कि पॉसपोर्ट जब्त किया जाना दिल्ली पुलिस की जांच प्रक्रिया का हिस्सा था.

राजस्थान रॉयल्स के शेयरधारक राज कुंद्रा का नाम फिक्सिंग में आने के बाद बीसीसीआई ने टीम के साथ करार रद्द करने के संकेत दिए थे. करार को बचाने के लिए ही राजस्थान रॉयल्स राज कुंद्रा से किनारा कर रही है.

देखिए:स्पॉट फिक्सिंग मामले पर लोग क्या सोचते हैं?

इससे पहले, चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक गुरुनाथ मयप्पन का नाम फिक्सिंग में आने के बाद टीम ने उन्हें मालिक मानने से इंकार कर दिया था. गौरतलब है कि गुरुनाथ मयप्पन को मुंबई पुलिस ने स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार भी किया था. फिलहाल मयप्पन जमानत पर रिहा हैं.

फिक्सिंग मामले में फंसे राज कुंद्रा पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. उनका पॉसपोर्ट जब्त कर लिया गया है और उनसे देश नहीं छोड़ने के लिए कहा गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड के लिए आप यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार