बिहार: ट्रेन पर नक्सली हमला, तीन की मौत

नक्सली
Image caption हाल ही में नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेसी नेताओं पर हमला किया था

बिहार में जमुई स्टेशन से पहले धनबाद-पटना इंटरसिटी ट्रेन परनक्सलियों के हमले में बिहार पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर, सीआरपीएफ के एक जवान और एक यात्री की मौत हो गई है. हमले में दो लोग ज़ख़्मी हो गए हैं.

बिहार पुलिस के पटना मुख्यालय में अपर पुलिस महानिदेशक और प्रवक्ता एसके भारद्वाज के मुताबिक जैसे ही गाड़ी कुंद्रा रेलवे स्टेशन पर रुकी, उस पर कुछ नक्सली सवार हो गए. गाड़ी मुश्किल से करीब दो सौ गज ही चली होगी कि नक्सलियों ने जंजीर खींचकर उसे रोक दिया.

उन्होंने बताया ,'' दोपहर करीब एक से डेढ़ के बीच नक्सली पहले से ही यहां ट्रेन का इंतजार कर रहे थे. ट्रेन के रुकते ही करीब 100 की संख्या में मौजूद इन नक्सलियों ने बाहर से ट्रेन पर गोलियां चलाईं जिसके बाद ट्रेन पर मौजूद आरपीएफ़ के जवानों ने जवाबी कार्रवाई की.''

हमले के समय इंटरसिटी ट्रेन पर आरपीएफ़ के पांच जवान सवार थे जिनमें से दो के हथियार इन नक्सलियों ने छीन लिए.

'हथियार छीनना मकसद'

जमुई स्टेशन से पहले पड़नेवाला कुंद्रा एक पहाड़ी इलाका है और नक्सली यहां ट्रेन का पहले से इंतजार कर रहे थे.

इस बीच गृह सचिव आरपीएन सिंह ने कहा है कि इस हमले का मकसद आरपीएफ़ से हथियार छीनना था.

उनका कहना था, ''सरकार नक्सलियों तक हथियार न पहुंचने देने के मकसद में कामयाब रही है तो वहीं नक्सली हथियार वापस लेने के लिए दूसरे तरीके अपना रहे हैं. ये दुखद बात है कि वे अब आम आदमी, ट्रेनों और राजनीतिज्ञों पर भी हमले कर रहे हैं. लेकिन नक्सलवाद के खिलाफ़ सरकार का जो संकल्प है वो उसे जारी रखेंगे और उन्हें रोकने के लिए सख़्त कदम उठाते रहेंगे.''

बिहार का जमुई एक ऐसा इलाका है जहां नक्सली हमले पहले भी होते रहे हैं.

नक्सली हमले की घटना के बाद अब ट्रेन जमुई से रवाना हो गई है.

(बीबीसी हिन्दी का एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक कीजिए. ताज़ा अपडेट्स के लिए आप हम से फ़ेसबुक और ट्विटर पर जुड़ सकते हैं)

संबंधित समाचार