'राहत का श्रेय' लेने में भिड़ गए दो नेता

Image caption राहत कार्यों पर लोग राजनीति करने का मौका नहीं छोड़ रहे हैं

उत्तराखंड में आई भीषण त्रासदी के बाद राहत कार्यों को लेकर राजनीति भी पूरे उफान पर है. राहत कार्यों का श्रेय लेने के चक्कर में राजधानी देहरादून में कांग्रेस और टीडीपी के नेताओं में हाथापाई तक हो गई.

आंध्र प्रदेश से उत्तराखंड में तीर्थयात्रा पर आए लोगों के एक बचाए गए जत्थे के साथ हैदराबाद की उड़ान भरने के लिए दोनों ही दल के नेता देहरादून हवाई अड्डे पर धक्का मुक्की करते देखे गए.

कांग्रेस सांसद हनुमंत राव और टीडीपी सांसद रमेश राठौर के बीच पहले तू-तू मैं और फिर मारपीट की नौबत आ गई.

देहरादून हवाई अड्डे पर टीडीपी और कांग्रेस के बीच ये हंगामा काफी देर तक चलता रहा. इस हंगामे के दौरान टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाब नायडू भी वहां मौजूद थे.

दरअसल कांग्रेस और तेलुगूदेशम दोनों पार्टियों के बीच आंध्र प्रदेश के लोगों को राहत दिलाने का श्रेय लेने को लेकर झगड़ा शुरू हुआ. बात बहस से शुरू हुई और देखते ही देखते धक्कामुक्की तक पहुंच गई.

खास बात ये कि मौके पर दोनों ही पार्टियों के दूसरे बड़े नेता भी मौजूद थे.

विवाद

पिछले करीब दो हफ्तों से प्राकृतिक आपदा की मार झेल रहे उत्तराखंड में लोगों की सहानुभूति हासिल करने के लिए देश के तमाम दलों और नेताओं में होड़ से मची हुई है.

हाल ही में टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू ने गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि बचाव कार्य में आंध्र के लोगों के साथ भेदभाव हो रहा है.

यही नहीं गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की आपदा प्रभावित लोगों को निकालने की कवायद और उसका श्रेय लेने की कोशिश भी काफी विवादित रही.

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को बेरोक-टोक हर जगह जाने देने की सरकारी अनुमति को लेकर भी लोगों ने सवाल उठाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार