जिया ख़ान मामला: सूरज पंचोली को ज़मानत

जिया ख़ान
Image caption जिया ख़ान ने तीन जून को अपने घर पर ख़ुदकुशी कर ली थी.

अभिनेत्री जिया ख़ान की मौत के संबंध में उनके कथित ब्वॉयफ्रेंड सूरज पंचोली को बॉम्बे हाईकोर्ट से ज़मानत मिल गई है.

उन्हें 50 हज़ार रुपए के निजी मुचलके पर ज़मानत दी गई है. इससे पहले सेशंस कोर्ट ने उनकी ज़मानत अर्ज़ी ख़ारिज कर दी थी.

(मौत से पहले जिया की कैटवॉक)

कोर्ट ने सूरज का पासपोर्ट ज़ब्त कर लिया है. अदालत में फैसले के वक़्त सूरज के पिता आदित्य पंचोली भी मौजूद थे.

ज़मानत मिलने के बाद आदित्य बिना मीडिया से बात किए निकल गए.

सूरज को 10 जून को पुलिस ने हिरासत में लिया था. पुलिस ने उनके आई पैड, लैपटॉप और मोबाइल फोन को भी ज़ब्त कर लिया था.

(जिया की अंतिम यात्रा)

पंचोली का पक्ष

Image caption सूरज पंचोली को 50 हज़ार के निजी मुचलके पर ज़मानत मिल गई है.

ख़बरों के मुताबिक जिया ने तीन जून को अंतिम बार सूरज से फोन पर बात की थी और पुलिस उनकी मौत का समय उस बातचीत के कुछ ही देर बाद का बताती है.

जिया ख़ान की मां ने उनकी मौत की वजह प्रेम संबंध में तनाव बताया था और इस मामले में सूरज पंचोली का भी नाम लिया था.

बीबीसी ने जब इस मामले में सूरज के पिता आदित्य से राय जाननी चाही तो वो बोले, "अभी मैं इस मामले पर कुछ नहीं बोलना चाहता. जिया की मां राबिया इस वक़्त काफी ग़मगीन और परेशान हैं. कानून अपना काम करेगा."

वहीं सूरज की मां ज़रीना वहाब ने एक अख़बार को दिए साक्षात्कर में अपने बेटे का बचाव करते हुए कहा था कि वो और सूरज काफी अच्छे दोस्त थे और ख़ुद जिया उनके घर कई बार आई. उन्होंने सूरज पर लगे सभी आरोपों का खंडन किया था.

पुलिस को जिया के परिवार ने एक ख़त सौंपा था और कहा था कि वो ख़त जिया ने लिखा था. जिया की मां राबिया ने मीडिया को बताया कि इस ख़त में जिया ने उन पर की गई ज़्यादतियों का ज़िक्र किया था.

राबिया ख़ान ने ये भी कहा था कि 'जिया ने करियर से निराश होकर आत्महत्या नहीं की थी'.

(जिया पर रामगोपाल वर्मा)

उन्होंने कहा था, "जिया अपने फ़िल्मी करियर से असंतुष्ट नहीं थीं. उन्होंने तो बल्कि कई फ़िल्मों के ऑफ़र ठुकराए भी. वो सिर्फ प्यार चाहती थीं."

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक़ जिया की दोस्ती अभिनेता आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली से थी और उन्होंने अपनी मौत से कुछ देर पहले सूरज से बात भी की थी.

ख़त

जिया ख़ान की मौत के बाद आठ जून को पुलिस को एक छह पन्नों का ख़त मिला. जिया के परिवार का दावा था कि उनकी बहन को ये ख़त जिया के पर्स से मिला जिसे परिवार ने पुलिस को सौंपा.

(जिया ख़ान का सपना)

कथित तौर पर जिया के उस ख़त में जिया ने अपने 'विफल प्रेम' का ज़िक्र किया है. ख़त में किसी का नाम साफ़ तौर पर नहीं लिखा है.

(नहीं रहीं जिया ख़ान)

जिया की मां ने कहा था, "भले ही ख़त में किसी का नाम न लिखा हो लेकिन जो भी जिया ने मुझे पहले बता रखा था और जो भी पहले घटनाएं हो चुकी हैं, सब कुछ सूरज पंचोली की तरफ इशारा करते हैं."

पुलिस ने अब तक इस बात की पुष्टि नहीं की है कि वो ख़त जिया ख़ान ने ही लिखा था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार