मणिपुर के राजा ने तोड़ी भूख हड़ताल

मणिपुर का राजमहल
Image caption राजमहल को लेकर मणिपुर राज्य सरकार और राजा के बीच 2006 में एक समझौता हुआ था

मणिपुर के पूर्व राजा ने अपनी दस दिन पुरानी भूख हड़ताल तोड़ दी है. वे सरकार की ओर से खुद को राजमहल से बेदख़ल किए जाने नाराज़ होकर भूख हड़ताल पर थे.

राजा लीशेम्बा सानाजाओबा के एक सहयोगी ने कहा कि राजा राज्य सरकार के साथ वार्ता करेंगे. राजा ने 24 जून से भूख हड़ताल शुरू की थी.

राज्य सरकार महल का पुनरुद्धार कर उसे पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करना चाहती है.

लेकिन उनके सहयोगियों का कहना है कि यह राज परिवार और सरकार के बीच हुए समझौते का उल्लंघन होगा.

बातचीत की प्रक्रिया

राजा के सलाहकार पुयाम तोमचा ने बीबीसी से कहा कि कुछ महिला संगठनों और ग़ैर सरकारी संगठनों की अपील पर राजा लीशेम्बा सानाजाओबा ने अपनी भूख हड़ताल ख़त्म कर दी.

उन्होंने कहा,''वे चाहते थे कि राजा भूख हड़ताल ख़त्म कर मणिपुर की सरकार के साथ बातचीत शुरू करें. राजा ने उनका आग्रह मान लिया है.''

राजा के सहयोगियों का कहना है कि साना कुनांग राजमहल और उसके आसपास की जमीन का अधिग्रहण कर उसे विरासत स्थल में बदलने का राज्य सरकार का फ़ैसला राज परिवार और राज्य सरकार के बीच 2006 में हुए समझौते का उल्लंघन है.

तोमचा ने कहा, ''दोनों पक्षों के बीच हुए समझौते में साफ़-साफ़ कहा गया है कि उनकी सहमति के बिना राजमहल के बारे में कोई फ़ैसला नहीं लिया जाएगा.''

सरकार का कहना है कि राजमहल के आसपास की बहुत सी जमीन अपना परंपरागत चरित्र खो चुकी है, क्योंकि इसे पूर्व राजा ओकेंद्रा ने बेच दिया था. इस जमीन पर ऊंची इमारतें बन गई हैं.

कैसे बना महल

Image caption लीशेम्बा सानाजाओबा के सहयोगी कह रहे हैं कि सरकार अपना वादा नहीं निभा रही है

कभी शक्तिशाली रहे मणिपुर के राज परिवार ने 1891 के एंग्लो- मणिपुर युद्ध के कांगला महल पर कब्जा जमा लिया था और राज परिवार के रहने के लिए साना कुनांग महल का निर्माण कराया था.

मणिपुर के भारतीय गणराज्य में शामिल होने के बाद में इस महल को सेना के मुख्यालय और अर्ध सैनिक बल असम राइफल्स के लिए आवास परिवार में तब्दील कर दिया गया था.

इसके बाद भी सीमित अधिकारों वाले राजा का परिवार इस राजमहल के एक हिस्से में रहता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार