भारतीय किक्रेट टीम के पहले कश्मीरी खिलाड़ी बने परवेज़

  • 7 जुलाई 2013
Image caption परवेज़ रसूल के भारतीय टीम में चयन से कश्मीरी युवाओं में सकारात्मक संदेश जाएगा.

भारत प्रशासित कश्मीर के युवा क्रिकेट खिलाड़ी परवेज़ रसूल भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होने वाले राज्य का पहले शख़्स बन गए हैं.

चौबीस साल के परवेज़ को ज़िंबाब्वे दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है.

चार साल पहले बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम के बाहर सिलसिलेवार बम विस्फ़ोटों के मामले में रसूल से पूछताछ की गई थी, हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था.

परवेज़ कहते हैं कि वह यह साबित करना चाहते हैं कि वह एक क्रिकेटर हैं आतंकवादी नहीं.

उनके प्रशंसकों का कहना है कि परवेज़ के चुने जाने से घाटी के युवाओं में संदेश जाएगा कि वह भी अपने देश का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं.

शुक्रिया

श्रीनगर में समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में परवेज़ ने स्वीकार किया कि इस साल की फ़रवरी में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ प्रैक्टिस मैच में सात विकेट लेने के बाद उन्हें टीम में शामिल किए जाने की उम्मीद थी.

उन्होंने कहा, “मैं बहुत ख़ुश हूं कि मेरा नाम भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल कर लिया गया है. इस सीज़न में मैंने बहुत मेहनत की है. घरेलू क्रिकेट में मैंने 33 विकेट लिए हैं और 594 रन बनाए हैं. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भी मैंने अच्छा खेला था. इसलिए मुझे ज़िंबाब्वे दौरे के लिए चुने जाने की उम्मीद थी.”

उन्होंने कहा, “मुझे लग रहा था चयनकर्ता अश्विन को आराम देंगे. मैं अल्लाह का शुक्रिया करता हूं, उनके चाहे बिना मेरे लिए यह संभव नहीं हो सकता था.”

पिछले कुछ वक़्त से लगातार बढ़िया प्रदर्शन कर रहे परवेज़ भारतीय टीम में अपनी दावेदारी मज़बूत कर रहे थे.

चयनकर्ताओं ने 24 जुलाई से शुरू हो रही जिंबाब्वे श्रृंखला के लिए नए खिलाड़ियों को मौक़ा देने का फ़ैसला किया तो परवेज़ को भी मौक़ा मिल गया.

अश्विन को आराम देने की वजह से ऑफ़ स्पिनर परवेज़ का टीम में प्रवेश का रास्ता तय हो गया. उन्हें दक्षिण अफ्रीका के लिए ‘ए’ टीम में भी शामिल किया गया है.

फ़रवरी में 45 रन देकर ऑस्ट्रेलिया के सात विकेट लेने वाले परवेज़ ने कहा, “मेरा काम क्रिकेट खेलना और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है. अल्लाह ने पूरी घाटी को प्यार और इज्ज़त बख़्शी है. घाटी के क्रिकेट प्रशंसको के विश्वास को तो मैंने क़ायम रखा है. अब मुझे उम्मीद है कि पूरे देश की उम्मीदों को भी क़ायम रख पाऊंगा.”

उन्होंने घाटी के सभी प्रशंसकों का उन पर विश्वास बनाए रखने के लिए आभार जताया.

उनका कहना था, “मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझ पर विश्वास जताया है. मैं ख़ुद को समर्थन के लिए पूरे जम्मू-कश्मीर का शुक्रिया अदा करता हूं.”

परवेज़ ने 17 प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैचों में 38.57 के औसत से 1003 रन बनाए हैं और 46 विकेट लिए हैं.

परवेज़ घाटी के पहले क्रिकेटर थे जिन्हें आईपीएल में खेलने का मौक़ा मिला.

आईपीएल छह में उन्हें पुणे वारियर्स टीम में शामिल किया गया था.

वह कहते हैं, “चाहे क्रिकेट हो या फ़ुटबॉल, घाटी में बहुत से प्रतिभावान खिलाड़ी हैं. लेकिन सुविधाओं की कमी से हम मार खा जाते हैं.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार