असमः बाढ़ के कारण ढाई लाख लोग बेघर

असम में बाढ़
Image caption असम में सैकड़ों गांव बाढ़ से प्रभावित हैं

भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में बाढ़ से ढाई लाख लोग बेघर हो गए हैं.

अधिकारियों के अनुसार राज्य के 27 ज़िलों में से 11 ज़िले बाढ़ से प्रभावित हैं. उन 11 ज़िलों में 400 गाँवों में लोगों को बाढ़ का क़हर झेलना पड़ रहा है.

अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गई है. अधिकारियों का कहना है कि वहाँ पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है.

ब्रह्मपुत्र उफ़ान पर

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों के अनुसार जियादोल नदी का जल स्तर बहुत ज़्यादा बढ़ गया है. इसके कारण अरुणाचल प्रदेश की सीमा से सटा असम का धेमाजी ज़िला बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

इस ज़िले के 35 से ज़्यादा गाँव बाढ़ के पानी में डूबने के कारण हजारों लोगों को ऊंचाई वाली जगहों पर जाना पड़ा.

गाँव के लोगों का कहना है कि बाढ़ के कारण सारे तटबंध बह गए हैं. पहले क्षतिग्रस्त हुए तटबंधों की बाढ़ के कारण मरम्मत नहीं हो सकी है.

बाढ़ के कारण सड़कें टूट गई हैं. विभिन्न हिस्सों का राज्य के अन्य भागों से सड़क संपर्क टूट गया है.

अधिकारियों के अनुसार कई जगहों पर तटबंध और उनके ऊपर बने पुल बह गए हैं, बाढ़ के कारण गोलाघाट ज़िले में छह सड़कें और एक पुल टूट गया है.

11 ज़िले प्रभावित

करीमगंज ज़िले के मदनपुर और चांदपुर में तटबंधों में दरार आ गई है.

ब्रह्मपुत्र नदी जोरहाट के नेमतीघाट में ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है.

असम के उत्तरी क्षेत्र के जिलों जोरहाट, लखीमपुर और सोनितपुर में सहायक नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं.

असम की बाढ़ से धेमाजी, तिनसुकिया, चिरांग, नगांव, गोलाघाट, जोरहट, कामरूप, करीमगंज, लखीमपुर, मोरीगांव और शिवसागर 11 ज़िले प्रभावित हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार