दिग्विजय सिंह: 'भड़काऊ ट्वीट' पर एफ़आईआर दर्ज

  • 21 जुलाई 2013
दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट का काफी विरोध हुआ था
Image caption दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट का काफी विरोध हुआ था

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के खिलाफ़ भोपाल के शाहपुरा थाने में एफ़आईआर दर्ज करायी गयी है.

आरएसएस से जुड़े संगीत वर्मा ने दो दिन पहले दिग्विजय सिंह के एक ट्वीट को आधार बना कर उनके खिलाफ एफ़आईआर दर्ज कराने का आवेदन दिया था जिस पर पुलिस ने उन पर आईटी एक्‍ट की धारा 295 ए, 66 व 68 के तहत मामला दर्ज़ किया है.

एफ़आईआर के खिलाफ़ भोपाल के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस थाने के सामने प्रदर्शन किया और जमकर हंगमा मचाया.

भोपाल साउथ ज़ोन के पुलिस अधीक्षक अंशुमान सिंह ने बताया कि लिखित शिकायत की विवेचना के बाद मामला दर्ज किया गया.

गौरतलब है कि मध्‍यप्रदेश के पूर्व वित्‍त मंत्री राघवजी के खिलाफ उनके सहयोगी राजकुमार द्वारा दर्ज कराए गए यौनशोषण के मामले के दौरान दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट किया था कि 'बच्‍चा बच्‍चा राम का, राघवजी के काम का'. दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट का काफ़ी विरोध हुआ था.

'मेरा मतलब अलग था'

विधानसभा में कांग्रेस विधायक चौधरी राकेश सिंह ने इस ट्वीट का हवाला देते हुए कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था. उसी ट्वीट को एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला बताते हुए भोपाल के संगीत वर्मा ने थाना शाहपुरा में यह मामला दर्ज कराया.

हालांकि शनिवार को दिग्विजय सिंह ने बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पन्‍ने पर लाइव चैट के दौरान साफ़ शब्‍दों में इस बात का खंडन किया है कि उनका ट्वीट पूर्व वित्‍त मंत्री राघवजी पर था.

एक सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा, "मैं राघवगढ़ का रहना वाला हूँ और राघवजी मेरे इष्टदेव हैं. हमारे गांव में जय राघवजी की कहते हैं. विकृत मानसिकता के लोगों ने राघवजी का नाम मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री के साथ जोड़ दिया है. मेरा ट्वीट ईष्टदेव राघजवी के लिए था, न कि राघवजी वित्त मंत्री."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार