महिला सांसद पर दिग्विजय का 'विवादित' बयान

दिग्विजय सिंह
Image caption दिग्विजय सिंह अपने बयानों की वजह से मीडिया में छाए रहते हैं

कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह इस बार अपनी ही पार्टी की एक सांसद के बारे में टिप्पणी को लेकर विवादों में पड़ते नज़र आ रहे हैं.

मध्य प्रदेश की एक रैली में दिग्विजय ने मंदसौर की महिला सांसद मीनाक्षी नटराजन को "100 टका टंच माल" कहा.

मीनाक्षी कांग्रेस पार्टी में सचिव हैं और राहुल गाँधी के विश्वस्त लोगों में मानी जाती हैं.

दिग्विजय सिंह ने मीनाक्षी नटराजन की तारीफ़ करते हुए कहा, " मैं राजनीति का पुराना जौहरी हूँ. मीनाक्षी जी का काम देख कर मैं यह कह सकता हूँ कि वह 100 टका टंच माल हैं."

उनके इस बयान में '100 टका टंच माल' वाले हिस्से पर विवाद शुरू हो गया. इस पर मीनाक्षी नटराजन ने कहा है कि दिग्विजय की टिप्पणी से उन्हें बुरा नहीं लगा है.

उन्होंने कहा, "उनके बयान को पूरे परिप्रेक्ष्य में देखा जाना चाहिए. उन्होंने मेरे काम की तारीफ की है. मुझे इस बयान से कोई आपत्ति नहीं है."

दिग्विजय सिंह ने ख़ुद को राजनीति का "पुराना जौहरी" बताया. सभा में मौजूद लोगों ने तालियाँ बजाकर उनका समर्थन किया. इससे पहले दिग्विजय सिंह ने मीनाक्षी नटराजन को मेहनती, ईमानदार, और समाज सेवक बताया.

"मानहानि का दावा करूँगा"

दिग्विजय सिंह ने अपने बयान का बचाव करते हुए कहा, "मैंने कुछ ग़लत नहीं कहा."

उन्होंने कहा, "मैंने उन्हें 100 टका सोने का माल कहा था, यह लोगों की सोच पर निर्भर है कि वह इसे किस तरह से देखते हैं. मैं अपने बयान को वापस नहीं लूँगा. मैं मीनाक्षी जी की तारीफ़ कर रहा था."

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा, "जिन लोगों ने मेरे बयान को ग़लत तरीके से पेश किया है मैं उनके ख़िलाफ़ मानहानि का दावा करूँगा."

बयान दिए जाते समय मीनाक्षी नटराजन ख़ुद मंच पर मौजूद थीं. उन्होंने अपनी तारीफ़ सुनकर हँसते हुए हाथ उठाकर ताली बजाई.

पुराना है विवादों से नाता

दिग्विजय सिंह अपने बयानों की वजह से मीडिया में छाए रहते हैं. वह कह चुके हैं कि आरएसएस लोगों को बम बनाने का प्रशिक्षण देता है.

इससे पहले वह नरेंद्र मोदी को लेकर अपने बयानों की वजह से सुर्ख़ियों में रहे.

फिर भारतीय जनता पार्टी के नेता राघव जी के अप्राकृतिक यौन संबंधों की सीडी मीडिया में आने के बाद नौ जुलाई को उन्होंने ट्वीट किया था – “भोपाल में नारे लग रहे हैं – बच्चा बच्चा राम का, राघवजी के काम का !”

बाद में बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पन्‍ने पर लाइव चैट के दौरान उन्होंने कहा कि राघवजी मेरे इष्टदेव हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि वह सोच समझ कर बोलते हैं.

अल क़ायदा के पूर्व नेता ओसामा बिन लादेन को "ओसामा जी" कहने की वजह से भारतीय मीडिया में उनकी काफी आलोचना हुई थी.

भ्रष्टाचार के खिलाफ आन्दोलन करने वाले अन्ना हज़ारे को दिग्विजय सिंह ने आरएसएस का एजेंट बताया था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार