मुंबई पर शोभा डे के ट्वीट ने मचाया बवाल

  • 1 अगस्त 2013
शोभा डे
Image caption शोभा डे का कहना है कि उन्होंने व्यंग्य में अपनी टिप्पणी की थी

तेलंगाना को अलग राज्य बनाने के प्रस्ताव को मिली मंज़ूरी के बीच चर्चित लेखिका शोभा डे का एक ट्वीट उनके लिए मुसीबत बन गया है.

शोभा डे ने अपने ट्वीट में लिखा है- महाराष्ट्र और मुंबई??? क्यों नहीं? मुंबई ने हमेशा से एक अलग अस्तित्व के रूप में अपनी कल्पना की है. इस खेल में अनगिनत संभावनाएँ हैं.

इस ट्वीट के बाद कई राजनीतिक दलों ने शोभा डे को आड़े हाथों लिया और उनकी कड़ी आलोचना की.

लेकिन महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने शोभा डे पर व्यक्तिगत टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि अलग राज्य तलाक लेने जितना आसान नहीं है और शोभा डे इसे समझेंगी.

शिवसेना नेता संजय राउत ने महाराष्ट्र सरकार से शोभा डे के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की अपील की है.

आलोचना

दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि शोभा डे को ये नहीं भूलना चाहिए कि मुंबई को महाराष्ट्र में मिलाने के लिए 105 लोगों ने अपनी जान दी थी.

भाजपा नेता विनोद तावड़े ने शोभा डे से अपील की है कि वे अपना ट्वीट वापस लें. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी शोभा डे की आलोचना की है और कहा है कि मुंबई महाराष्ट्र की राजधानी है.

एनसीपी के नवाब मलिक ने कहा कि जो लोग मुंबई को अलग करने की बात कर रहे हैं, उन्हें इस शहर के इतिहास के बारे में जानकारी नहीं है और वे लोगों की भावनाओं को चोट पहुँचा रहे हैं.

दूसरी ओर शोभा डे का कहना है कि उन्होंने व्यंग्य में ये लिखा था और वे कोई वजह नहीं देखतीं कि उन्हें इस पर माफ़ी मांगनी चाहिए.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार