असम: बँटवारे की संभावना पर गरमाए गोगोई

  • 4 अगस्त 2013
Image caption असम में बोडोलैंड की मांग को लेकर प्रदर्शन हो रहे हैं

असम में अलग राज्य की मांग को लेकर जारी हिंसा के बीच मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने राज्य के विभाजन संबंधी किसी भी संभावना से साफ इंकार किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक गोगोई ने हिंसा में शामिल लोगों को आगाह किया कि कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

शनिवार को संवाददाताओं के साथ बातचीत में उन्होंने कहा, “कोई सरकार किसी राज्य का बंटवारा नहीं चाहती. असम में हम संयुक्त परिवार की तरह रहना चाहते हैं.”

तेलंगाना को अलग राज्य बनाए जाने की घोषणा के बाद से ही असम में अलग कार्बी आंगलांग और बोडोलैंड राज्यों की मांग को लेकर कई संगठनों ने आंदोलन तेज कर दिया है.

बंद से नुकसान

बंद के अलावा प्रदर्शनकारियों ने कई जगह सरकारी इमारतों को आग लगा दी और जगह-जगह ट्रेन पटरियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी को असम के हालात से अवगत कराया है.

उन्होंने स्वीकार किया कि पृथक तेलंगाना राज्य के गठन के फैसले से पृथक राज्यों की मांग करने वालों को नए सिरे से आंदोलन का मौका मिल गया है.

हालांकि गोगोई ने इस फैसले पर टिप्पणी करने से इंकार किया कि तेलंगाना के गठन का फैसला सही था या नहीं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार