मिड डे मील: कितना सुधार?

16 जुलाई को बिहार के छपरा जिले में मिड डे मील का विषाक्त खाना कर 23 बच्चों के मारे जाने के बाद राज्य और केन्द्र सरकार ने कई दिशा निर्देशों की घोषणा की है पर इस घटना से क्या कुछ बदला है या ज़मीनी हकीकत जस की तस है ?

क्या ऐसी घटना दोहराई न जाए. इसका ठोस उपाय हो पाया है या दुनिया की एक सबसे बड़ी योजना पर विफल होने का ठप्पा लग गया है?

इस शनिवार दस अगस्त को भारतीय समयानुसार शाम साढे सात बजे बीबीसी इंडिया बोल में बहस होगी इसी विषय पर

इस बहस में सीधा हिस्सा लेने के लिए मुफ्त फोन करें 1800 11 7000 या 1800 102 7001 पर.

आप फेसबुक के जरिए भी अपनी राय हम तक पहुंचा सकते हैं. अगर आप चाहते हैं कि बीबीसी हिंदी का फेसबुक पन्ना आपसे संपर्क करे तो अपना फोन नंबर इस पते पर इमेल करें bbchindi.indiabol@gmail.com

बीबीसी इंडिया बोल, तो फिर इंतज़ार किस बात का.