किश्तवाड़ हिंसा की न्यायिक जाँच: उमर अब्दुल्ला

  • 12 अगस्त 2013
कार्रवाई करती पुलिस
Image caption किश्तवाड़ में दो समुदायों के बीच हिंसा हो गई थी

जम्मू कश्मीर की सरकार ने ईद के दिन जम्मू संभाग के किश्तवाड़ में हुई हिंसा की घटनाओं की न्यायिक जाँच कराने का फैसला किया है.

राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्विटर पर बताया कि सरकार इस घटना की न्यायिक जाँच कराएगी.

उन्होंने बताया कि घटना की जाँच हाई कोर्ट के एक रिटायर्ड जज से कराई जाएगी. मुख्यमंत्री के मुताबिक़ घटना की जाँच रिपोर्ट को उनकी सरकार सार्वजनिक करेगी.

किश्तवाड़ में ईद के दिन दो समुदायों के बीच हुई झड़पों में दो लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हुए थे. इसके बाद वहाँ प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया था.

'पूर्वनियोजित हिंसा'

इस घटना के विरोध में विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 48 घंटे के बंद का आयोजन किया था. इस दौरान जम्मू में प्रदर्शनकारियों ने हिंसा की. इसके बाद जम्मू में भी कर्फ्यू लगा दिया गया.

किश्तवाड़ की हिंसा के बाद जम्मू संभाग के कुछ अन्य शहरों में भी कर्फ्यू लगा हुआ है.

मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि किश्तवाड़ की हिंसा पूर्व नियोजित थी. विपक्षी दलों पर उन्होंने किश्तवाड़ की हिंसा पर राजनीति करने का आरोप लगाया था.

उन्होंने कहा था कि राजनीतिक दल अपने फायदे के लिए राज्य में 2008 जैसे हालात पैदा करना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार