भारत को एमएफएन का दर्जा देने की तत्काल योजना नहीं- पाकिस्तान

  • 13 अगस्त 2013
इसहाक़ डार
Image caption डार को प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का क़रीबी माना जाता है.

भारत और पाकिस्तान के दरम्यान सीमा पर जारी तनाव के बीच पाकिस्तान ने कहा है कि उसकी भारत को सबसे पसंदीदा देश (एमएफएन) का दर्जा देने की तत्काल कोई योजना नहीं है. डार ने जिओ न्यूज़ चैनल से कहा, “हम एमएफएन का दर्जा देने पर विचार नहीं कर रहे हैं. हमें पहले दूसरी चीजों को सामान्य बनाने की ज़रूरत है.”

दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों को बढ़ाने के लिए भारत ने 1996 में ही पाकिस्तान को एमएफएन का दर्जा दे दिया था. पाकिस्तान के इस साल जनवरी तक भारत को एमएफएन का दर्जा देना था.

बातचीत

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बेहद क़रीबी माने जाने वाले डार ने कहा कि भारत में कुछ तत्व दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच सितंबर में न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र आम सभा के दौरान प्रस्तावित बातचीत में रोड़ा अटकाने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, “अगर दोनों देशों के संबंधों को बिगाड़ने और इस बैठक में खलल डालने की कोई साजिश है तो ये खेदजनक है. हम पड़ोसी नहीं बदल सकते, इसलिए हमें शांति के साथ रहना चाहिए.”

भारत ने पाकिस्तानी सेना पर सीमारेखा पर गोलीबारी करके पांच भारतीय सैनिकों को मारने का आरोप लगाया है. पाकिस्तान ने इस आरोप का खंडन किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार