फिर फंसे आसाराम, बलात्कार का मामला दर्ज

Image caption धार्मिक गुरू आसाराम बापू इससे पहले भी अपने बयानों के चलते विवादों में रह चुके हैं.

धार्मिक गुरु आसाराम बापू एक बार फिर विवादों में हैं.

जोधपुर पुलिस ने बुधवार को उनके खिलाफ एक नाबालिग लड़की के साथ कथित यौन दुर्व्यवहार और बलात्कार का मामला दर्ज किया है.

पीड़ित लड़की अपने माता-पिता के साथ बुधवार की शाम जोधपुर पहुंची. उसके बयान के बाद पुलिस ने यह मामला दर्ज किया.

इससे पहले पीड़ित ने दिल्ली पुलिस के पास यह मामला दर्ज कराया था. जोधपुर पुलिस के मुताबिक चूंकि यह अपराध जोधपुर में हुआ था, इसलिए दिल्ली पुलिस ने आगे की कार्रवाई के लिए पीड़ित को जोधपुर भेज दिया.

जोधपुर (पश्चिम) के पुलिस उपायुक्त अजयपाल लांबा ने बताया, "हमने आसाराम बापू के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है और जांच जारी है. पुलिस तथ्यों की जांच करेगी और इस मामले से जुड़े लोगों से पूछताछ की जाएगी."

पीड़ित उत्तर प्रदेश की रहने वाली है. उसका कहना है कि आसाराम ने 15 अगस्त के दिन जोधपुर के निकट मनाई गांव में उसके साथ बलात्कार किया.

उधर मीडिया रिपोर्टो के अनुसार आसाराम के प्रवक्ता ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि इनका मकसद आसाराम की छवि को खराब करना है.

धमकी देने का आरोप

Image caption जोधपुर स्थित आश्रम में आसाराम अक्सर अपने शिष्यों के उपदेश देने के लिए आते हैं.

पीड़ित ने बताया कि धार्मिक गुरु ने उसे खमोश रहने और किसी से कुछ नहीं कहने के लिए कहा था. उसने यह भी बताया कि आसाराम ने उसे धमकी भी दी कि अगर उसने इस घटना के बारे में किसी को बताया तो मध्य प्रदेश स्थित बापू के आश्रम में पढ़ने वाले उसके भाई को मार दिया जाएगा.

पुलिस ने जोधपुर में बापू के मनाई गांव स्थित आश्रम को सील कर दिया है और आश्रम पर पुलिस का पहरा बिठा दिया गया है.

पुलिस सू्त्रों का कहना है कि इससे पहले पीड़ित के बयान को दिल्ली में धारा 164 के तहत रिकार्ड किया गया.

सूत्रों का कहना है कि जोधपुर आश्रम में आसाराम अक्सर अपने शिष्यों के उपदेश देने के लिए आते हैं. पीड़ित के माता-पिता इस धार्मिक गुरू के निष्ठावान शिष्य हैं.

लांबा ने फोन से बताया कि , "अगर पीड़ित के तथ्य सही हैं, तो दोषी को बक्शा नहीं जाएगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार