'कोसी परिक्रमा': अशोक सिंघल को रोका गया

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद ने रविवार से "84-कोसी परिक्रमा" शुरू करने की घोषणा की है. राज्य सरकार ने इस पर रोक लगा दी है लेकिन विहिप ने इसे जारी रखने का फ़ैसला किया है.

इसे लेकर अयोध्या और फैज़ाबाद में बेहद तनाव का माहौल है.

सरकार के प्रतिबंध की वजह से विश्व हिंदू परिषद और भारतीय जनता पार्टी में नाराज़गी है.

इनके नेताओं का कहना है कि परिक्रमा पर रोक लगाना ग़ैरक़ानूनी है जबकि राज्य सरकार का कहना है कि "84-कोसी परिक्रमा" खुद में गैर क़ानूनी है क्योंकि ये अपारंपरिक है.

तनातनी

इस कारण वीएचपी और राज्य की अखिलेश यादव सरकार के बीच तनातनी बनr हुई है.

उधर, वीएचपी नेता अशोक सिंघल को लखनऊ के अमोसी हवाई अड्डे पर हिरासत में ले लिया गया है. इससे पहले प्रवीण तोगड़िया को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था.

उन्हें निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर परिक्रमा की कार्रवाई शुरू करने की कोशिश के आरोप में हिरासत में लिया गया और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

Image caption वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया एहतियातन हिरासत में लिए गए हैं.

इससे पहले पूर्व सांसद और राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य राम विलास वेदांती, फैजाबाद से बीजेपी के विधायक राम चंद्र यादव, राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास को भी प्रशासन ने हिरासत में लिया है.

वीएचपी नेता अशोक सिंघल भी अयोध्या पहुंचने वाले हैं. कहा जा रहा है कि लखनऊ के अमोसी हवाई अड्डे पर उन्हें भी हिरासत में लिया जा सकता है. वीएचपी और बीजेपी के कई स्थानीय नेता भी सुबह गिरफ्तार किए गए हैं.

शहर छावनी में तब्दील

इस बीच, अयोध्या में सुरक्षा के बेहद सख्त इंतज़ाम किए गए हैं.

अयोध्या और उससे जुड़े फैज़ाबाद शहर की सीमा को सील किया गया है. दोनों शहर एक तरह से छावनी में तब्दील कर दिए गए हैं.

अयोध्या में स्थानीय पत्रकार अरशद अफ़ज़ाल ख़ान ने बीबीसी को बताया कि दोनों शहरों में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है और किसी भी शख्स को शहर में दाखिल होने की इजाज़त नहीं है.

फ़ैज़ाबाद प्रशासन के मुताबिक सरयू नदी से शुरू होने वाली "84 कोसी परिक्रमा" को देखते हुए एहतियात के तौर पर पिछले 24 घंटों में विश्व हिंदू परिषद के क़रीब 200 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है और वीएचपी के बड़े नेताओं पर भी नज़र रखी जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार