पत्रकारों पर हमला, आसाराम के समर्थक हिरासत में

आसाराम बापू
Image caption आसाराम अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार करते हैं

धार्मिक गुरु आसाराम बापू के जोधपुर आश्रम में टीवी पत्रकारों पर हुए हमले के आरोपों में उनके छह समर्थकों को हिरासत मे लिया गया है.

ये घटना शनिवार सुबह को घटी जिसमें एक निजी समाचार चैनल के पत्रकारों को कुछ चोटें आई हैं.

इस मामले में हिरासत में लिए गए लोगों में आसाराम की कुछ महिला समर्थक भी शामिल हैं.

एक नाबालिग़ लड़की के साथ कथित यौन दुर्व्यवाहर के आरोपों से घिरे आरासाम की संभावित गिरफ्तारी के लिए जोधपुर की पुलिस ने अपनी एक टीम को इंदौर भेजा है.

हालांकि आसाराम अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार करते हैं. इन आरोपों को लेकर उनके समर्थकों में ग़ुस्सा है.

'ऐसी उम्मीद नहीं थी'

पत्रकारों पर हमले की घटना के बाद क्षेत्र में तनाव का माहौल है.

शनिवार को टीवी पत्रकारों पर हमले के बाद इलाक़े में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. आसाराम के समर्थकों को जोधपुर के आश्रम में आने से रोका जा रहा है और आसपास के ज़िले से भी ऐसा ही करने को कहा गया है.

जोधपुर के डीसीपी अजय पाल लांबा ने कहा, “हमें उम्मीद नहीं थी कि महिलाएं ऐसा करेंगी. हम ऐसा सोच भी नहीं सकते थे. लेकिन अब हमने शहर में सुरक्षा कड़ी कर दी है.”

आसाराम की गिरफ्तारी के बारे में उन्होंने कहा, “हमारी टीमें इंदौर के लिए रवाना हो गई हैं, जहां भी आसाराम होंगे उन्हें तलाशा जाएगा. अगर साक्ष्य मिले तो उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है और ये गिरफ्तारी जांच का ही हिस्सा है.”

इससे पहले आसाराम बापू के पुत्र नारायण साई ने कहा था कि आसाराम बीमार हैं इसीलिए पुलिस के सामने हाज़िर नहीं हो सके.

इससे पहले नारायण साई ने कहा कि उनके पिता ने दिल्ली जाने के लिए हवाई जहाज़ में शुक्रवार सुबह का आरक्षण कराया था लेकिन उनकी तबीयत अचानक ख़राब हो गई इसलिए टिकट को निरस्त कराना पड़ा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार