बिहार: बाढ़ से इस साल 160 लोगों की मौत

  • 3 सितंबर 2013
Image caption दरभंगा-समस्तीपुर रेलवे लाइन के पास से गुजरते हुए बाढ़ प्रभावित ग्रामीण (फाइल फोटो)

बिहार में गंगा सहित सभी प्रमुख नदियों में आए उफान के चलते जानमाल का भारी नुकसान हुआ है. राज्य के 12 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं जबकि आठ जिलों में हालत गंभीर बनी हुई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार इस साल बाढ़ के चलते बिहार में 160 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 54 लाख लोग बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं.

पीटीआई की रिपोर्ट में राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग में विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) विपिन कुमार राय के हवाले से बताया गया है कि बिहार के अधिकतम 20 जिले प्रभावित हुए हैं.

गंगा नदी के रौद्र रूप के चलते पटना, भोजपुर, बक्सर, सिवान, भागलपुर, कटिहार, वैशाली और बेगूसराय जिलों में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

राहत शिविरों में पनाह

विपिन कुमार राय ने बताया कि बाढ़ के शिकार लोगों के आश्रितों को हर्जाना दिया जा रहा है, जबकि प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जा रहा है.

राज्य सरकार की विज्ञप्ति में कहा गया है कि बाढ़ पीड़ितों के लिए 85 राहत शिविरों का संचालन किया जा रहा है, जिसमें से छह पटना में हैं.

विज्ञप्ति के मुताबिक केवल पटना राहत शिविरों में ही करीब 3,000 लोगों ने शरण ली है.

बाढ़ से राहत और बचाव कार्यक्रम की निगरानी मुख्य सचिव स्तर पर की जा रही है और इसके तहत प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है.

उन्होंने बताया कि अब तक बाढ़ राहत शिविरों के जरिए कुल 2.08 लाख क्विंटल खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा चुका है. प्रभावित लोगों के 58,500 पॉली शीट्स वितरित की गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार