जेल में ही है मु्ंबई गैंगरेप का संदिग्ध

मुंबई गैंगरेप

मुंबई की शक्ति मिल में हुए गैंगरेप के मामले में गिरफ़्तार एक अभियुक्त के ग़ायब होने की रिपोर्टों के बाद अब अधिकारियों ने कहा है कि वो अभियु्क्त जेल में बंद है.

जेल अधिकारियों ने इससे पहले सिराज रहमान ख़ान के जेल में होने से इनकार किया था. इस वजह से भ्रम पैदा हो गया था. हाल ही में एक संदिग्ध चरमपंथी भी अदालत में पेशी के दौरान फ़रार हो गया था.

एक फोटो जर्नलिस्ट से गैंगरेप के मामले में गिरफ़्तार पाँच संदिग्धों में ख़ान भी शामिल है.

महत्वपूर्ण है कि पुरुष सहकर्मी के साथ शूट पर गई 22 साल की फोटो जर्नलिस्ट के साथ शक्ति मिल परिसर में पाँच लोगों ने गैंगरेप किया था.

इस मामले के बाद यौन हिंसा के ख़िलाफ़ एक बार फिर प्रदर्शन हुए थे. इस मामले में दिसंबर 2012 में दिल्ली के वसंत विहार में मेडिकल छात्रा के साथ हुए गैंगरेप की याद दिला दी थी.

Image caption पुलिस ने संदिग्धों को अदालत में पेश किया

शक्ति मिल गैंगरेप के मामले में बृहस्पतिवार को अभियुक्तों को अदालत में पेश किया जाना था. एक संदिग्ध के गायब होने की ख़बर दिन भर मीडिया में छाई रही.

संशय

अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता उज्जवल निकम ने पत्रकारों से कहा, 'बलात्कार के संदिग्ध सिराज रहमान ख़ान कहाँ है इस बात को लेकर संशय के कारण अदालत ने थाणे जेल के अधीक्षक को कोर्ट के समक्ष पेश होकर लापरवाही के बारे में स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है.'

भारतीय मीडिया के कवरेज से लग रहा था जैसे सिराज ख़ान जेल से भागने में कामयाब हो गया हो. पुलिस इस बात पर ज़ोर दे रही थी कि संदिग्ध जेल में है जबकि जेल अधिकारी दावा कर रहे थे कि वह मुंबई क्राइम ब्रांच की हिरासत में है.

जेल अधिकारियों द्वारा सिराज के जेल में ही बंद होने के बाद यह भ्रम की स्थिति समाप्त हुई.

इससे पहले,पिछले हफ़्ते ही चरमपंथी संगठन इंडियन मुजाहिदीन का एक संदिग्ध सदस्य अफ़ज़ल उस्मानी मुंबई की एक अदालत से फ़रार होने में कामयाब रहा था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार